Earthquake in Delhi NCR 08 June 2020: दिल्ली में आज आए भूकंप के झटकों की जानकारी

    Advertisement

    Delhi NCR Earthquake 08 June 2020 Details in Hindi: दिल्ली-नॉएडा में आज आए भूकंप के झटकों की पूरी जानकारी?

    Delhi Noida Bhukamp Today 08 June 2020: आज 8 जून को दोपहर 1 बजे के लगभग दिल्ली में 2.1 की तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया। भूकम्प का केंद्र दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर बताया जा रहा है, यह झटके काफी हलके थे। शायद ही आपने इसे महसूस किया हो, परन्तु लगातार भूकम्पों के आने से लोग इससे डरने को मजबूर है। क्या आप जानते है की इस तरह बार-बार आने का क्या कारण है? चलिए जानते है...

    नोएडा मे आज 03 जून को एक बार फिर से रात 10:42 के करीब भूकंप के झटके महसूस किए गए, इन भूकंप के झटकों की तीव्रता रिक्टर स्केल पर लगभग 3.2 बताई जा रही है। और भूकंप का केंद्र दक्षिण-पूर्वी Noida था यह काफी हलके झटके थे क्योंकि इसका केंद्र जमीन के 19 KM अन्दर था।


    इससे पहले 29 मई को भूकंप के झटके हरियाणा, नोएडा, गाजियाबाद समेत दिल्ली के आसपास के कई इलाकों में महसूस किए गए थे।

    हालांकि इसका केंद्र दिल्ली से दूर हरियाणा के रोहतक में बताया जा रहा गया था और इसका एपीसेंट्रल जमीन से करीब 5 किलोमीटर नीचे था। हर भूकंप के झटके महसूस होते ही लोगों ने घर से बाहर निकलना शुरू कर दिया। क्योंकि यह झटके करीबन 15-30 सेकेंड तक महसूस किया गया था।

    Earthquake in Delhi NCR Me Bhukamp Ke Jhatke Today Just Now
    Earthquake in Delhi NCR Me Bhukamp Ke Jhatke Today Just Now

    आज के इस लेख में हम आपको Lockdown के दौरान दिल्ली में आए सभी भूकम्प के झटकों (Tremors of Earthquake in Hindi) की जानकारी देने जा रहे है। जहाँ आपको दिल्ली में भूकंप का कारण, दिल्‍ली किस जोन में आती है इसके बारे में भी जरूरी जानकारी मिलेगी।


    Delhi Earthquake Today 2020 Details in Hindi:

    Delhi NCR Me Bhukamp Ke Jhatke: आपको बता दें कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में कई बार भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। लेकिन इस बार यह झटके दिल्ली एनसीआर, नोएडा, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में भी हल्के झटके महसूस किए गए है।

    इससे पहले 12-13 अप्रैल को दिल्ली में भूकंप आया था जिसका EpicCenter दिल्ली बताया गया था। इसके बाद 10 मई को दोपहर 1:45 बजे के लगभग फिर से भूकंप के झटके महसूस किए थे और उस समय इसका केंद्र दिल्ली-उत्तर प्रदेश यानी नॉर्थ ईस्ट बॉर्डर बताया गया था।



    यह भी पढ़ें: जानिए कोरोना वायरस से हुए पृथ्वी को फायदे के बारें में

    जोन 4 में आती है दिल्‍ली

    भूकम्प की संवेदनशीलता के आधार पर मैक्रो सेस्मिक जोनिंग मैपिंग ने भारत को 4 जोन में बांटा है जिसमें Zone-5 से Zone-2 तक को रखा गया है। इसमें Zone 2 को कम संवेदनशील तथा जोन 5 गंभीरतम इलाकों को दर्शाता है।

    दिल्‍ली जोन 4 में आती है और दिल्ली के साथ ही जम्मू कश्मीर और महाराष्ट्र भी इसी जोन में शामिल है। तो वहीँ हिमालय का केंद्र, कश्मीर और कच्छ का रन Zone-5 में आते है। जोन-4 और जोन-5 में नुकसान की संभावना ज्यादा होती है।


    क्‍या हो सकता है दिल्ली में भूकंप का कारण:

    भारत में भूकंप आने का इतिहास आज का नहीं है यहाँ बहुत पहले से ही Bhukamp आते रहे है और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दिल्ली हिमालय के काफी करीब है और हिमालय का निर्माण भारत और यूरेशिया जैसी टेक्टॉनिक प्लेटों के मिलने से हुआ था।

    और एक रिपोर्ट की माने तो भारत का टकराव यूरेशिया से करीब 47 मिलीमीटर प्रति वर्ष की गति से हो रहा है। और इस दौरान टेक्टॉनिक प्लेटों के टकराने की वजह से ही भारत के इन इलाकों में अक्सर भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं। हालांकि भूजल में कमी से टेक्टॉनिक प्लेटों की गति में धीमी हुई है।


    अब तो आप समझ गए होंगे की India के उत्तरी हिस्से (दिल्ली के आस-पास के राज्य) में अक्सर भूकंप क्यों आते रहते हैं। आपको याद हो तो गुजरात के कच्छ क्षेत्र में साल 2001 में आए Earthquake से कई हज़ार लोगों की जान गयी थी।


    यह भी पढ़ें: घर में खाली समय में क्या करें - टाइम पास कैसे करें

    यह है लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में आए अब तक के भूकंपों की सूची

    Delhi NCR Earthquake 2020 Information in Hindi
    DateRichter scaleEpicentre
    29 मई 20204.6 and 2.9रोहतक (हरियाणा)
    28 मई 20202.5फरीदाबाद (हरियाणा)
    15 मई 20202.2पीतमपुरा (दिल्ली)
    10 मई 20203.5 वजीरपुर (दिल्ली)
    13 अप्रैल 20202.7 सोनिया विहार (दिल्ली)
    12 अप्रैल 20203.5पूर्वी दिल्ली

    भूकंप आने पर क्या करें क्या न करे?

    भूकंप आते ही आप घर से निकल कर बाहर खुले मैदान या पार्क में जाए। और ध्यान रखें कि किसी पर पेड, बिल्डिंग या फिर बिजली के खंभे से दूरी बनाए रखें।

    यदि आप बिल्डिंग के ऊपर फ्लोर पर रहते हैं तो नीचे उतरते समय लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।

    अगर बिल्डिंग में एक साथ बहुत से लोग रहते है तो भगदड़ न मचाए एक-एक करके वहां से बाहर आने की कोशिश करें।


    बाहर ना जा पाने की स्थिति में आप घर के मजबूत कोने में फर्श पर ही बैठ जाएं या फिर घर में अगर कोई मजबूत टेबल या बेड हो तो उसके नीचे सिर पर तकिया लेकर बैठ जाएं। और इस दौरान बच्चों और घर के अन्य लोगों का भी ध्यान रखें।

    हो सके तो गैस सिलेंडर और बिजली का मेन स्विच Off कर दें। और भूकंप आने पर कांच के सामान और भारी फर्नीचर जैसें अलमारी आदि से दूरी बनाए रखें।


    अंतिम शब्द

    फ्रेंड्स दिल्ली एनसीआर में भूकम्प के झटके क्यों महसूस किए जा रहे है और इस लॉकडाउन के दौरान अब तक कितनी बार Delhi Ncr में Earthquake आया है इसकी जानकारी भी आपको मिल गयी है। साथ ही रिक्टर स्केल पर भोकंप की तीव्रता क्या थी और इसका एपिकसेण्टर कहाँ था यह भी आपको मालूम चल गया है।

    अगर आपको Delhi NCR Me Bhukamp Ke Jhatke और Earthquake in Delhi on 08 June 2020 की यह जानकारी Useful लगी तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर साझा करें।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
     

    About Writer