-->

Chocolate Day 2021: विश्व चॉकलेट दिवस कब है, इसका इतिहास और फायदे

    World Chocolate Day 2021 Date: क्यों, कैसे और कब मनाया जाता है विश्व चॉकलेट दिवस, जानें इतिहास और फायदे

    International Chocolate Day Kab Hai 2021 Date India: भारत और दुनिया भर में हर साल 7 July को विश्व चॉकलेट दिवस यानी वर्ल्ड चॉकलेट डे मनाया जाता है। चॉकलेट का नाम सुनते ही लोगों को एक गजब का एहसास होता है चॉकलेट ऐसा खाद्य पदार्थ है जो हर किसी को पसंद आता है इसे बच्चे से लेकर बूढ़े तक खाना पसंद करते हैं।

    किसी खास मौके पर चॉकलेट या फिर किसी को खुश करने के लिए चॉकलेट देना काफी अच्छा माना जाता है साथ ही चॉकलेट खाने से शरीर को कई फायदे भी होते हैं।


    Happy World Chocolate Day 2021 Images Photos Pics

    आज के इस लेख में हम आपको World Chocolate Day 2021 कब क्यों और कैसे मनाया जाता है इसका इतिहास (History) तथा चॉकलेट के कुछ फायदे (Benifits) और इसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं।


    World Chocolate Day 2021 Information in Hindi

    About International Chocolate Day 2021 in Hindi:
    नामविश्व चॉकलेट दिवस, (वर्ल्ड चॉकलेट डे)
    तिथि7 जुलाई
    पहली बार1550, यूरोप में
    अगली बार7 जुलाई 2022

    2021 में चॉकलेट डे कब है? कैसे हुई World Chocolate Day की शुरुआत

    हर साल विश्व चॉकलेट दिवस 7 जुलाई को मनाया जाता है, बताया जाता है कि इसकी शुरुआत आज से लगभग 471 साल पहले यूरोप में 7 जुलाई 1550 को हुई थी।

    जिसके बाद फ्रांस ने भी सन् 1995 को चॉकलेट दिवस मनाने की शुरुआत की। परंतु चॉकलेट का इतिहास मात्र 470 साल पुराना ही नहीं बल्कि कुछ लोगों का तो यह भी मानना है कि इसका आस्तित्व 2000 से 4000 साल पुराना है।

    हालांकि चॉकलेट डे फरवरी में पड़ने वाले वेलेंटाइन वीक के तीसरे दिन भी मनाया जाता है।

    दुनिया के अलग-अलग देशों में विश्व चॉकलेट दिवस अलग-अलग दिन मनाया जाता है अफ्रीकी देश घाना कोको का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है और वहां चॉकलेट दिवस हर साल 14 फरवरी को मनाया जाता है, अमेरिका में यह National Chocolate Day 28 अक्टूबर को मनाया जाता है।


    आइए आपको चॉकलेट के कुछ रोचक इतिहास के बारे में भी बताते हैं।

    यह भी पढ़ें: 5 बेस्ट केक बनाने वाली गेम फ्री डाउनलोड

    चॉकलेट का इतिहास - History of Chocolate in Hindi

    चॉकलेट का वृक्ष सबसे पहले अमेरिका में देखा गया था और इस वृक्ष की फलियों में लगे बीज से ही चॉकलेट की खोज करने की शुरुआत मानी जाती है। उस समय साल 1528 के करीब जब अमेरिका के मेक्सिको पर स्पेन का कब्जा था तब वह चॉकलेट के इस पेड़ (जिसे कोको कहा जाता है) को मेक्सिको से स्पेन ले आए थे और वहां के लोगों को यह इतना अच्छा लगा कि वहां के लोगों ने इसे अपना पसंदीदा ड्रिंक बना लिया।

    हालांकि जब चॉकलेट का शुरुआती दौर था तो लोगों को इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी इसलिए उन्हें इसका स्वाद कसैला और थोड़ा तीखा लगता था बाद में इसके तीखे पन को दूर करने के लिए कई उपाय किए गए।

    और इसे मीठा बनाने का श्रेय यूरोप को ही जाता है।


    चॉकलेट दिवस कैसे मनाया जाता है - Chocolate Day Celebration

    चॉकलेट दिवस को आप बड़ी ही आसानी से और बड़े ही धूमधाम से मना सकते हैं इस दिन आप चॉकलेट का आदान-प्रदान या फिर किसी को चॉकलेट गिफ्ट कर सकते हैं।

    आजकल चॉकलेट कई तरह से बाजार में उपलब्ध है आप चाहे तो डार्क चॉकलेट खरीद सकते हैं या फिर आप चॉकलेट केक, चॉकलेट कैंडी या फिर चॉकलेट से बनी कोई और अन्य चीज को किसी को उपहार के रूप में दे सकते हैं।

    अगर आपसे आपका कोई प्रिय रूठ गया है तो उसे मनाने के लिए आप चॉकलेट दिवस पर उन्हें चॉकलेट गिफ्ट करके मना सकते हैं और अपने रिश्तो को मजबूत कर सकते हैं।

    आज आइसक्रीम से लेकर केक और ज्यादातर ऑनलाइन मंगाई जाने वाली मिठाइयों में चॉकलेट का इस्तेमाल किया गया होता है।


    यह भी पढ़ें: World Rose Day: कब, क्यों और कैसे मनाते हैं?

    चॉकलेट से होने वाले फायदे - Benifits of Chocolate in Hindi

    दोस्तों वैसे तो कई लोगों का मानना है कि चॉकलेट से शरीर की बनावट पर असर पड़ता है और इससे मोटापा बढ़ता है लेकिन इसके कई सारे लाभ भी होते हैं जैसे:


    • चॉकलेट खाने से तनाव कम होता है क्योंकि चॉकलेट तनाव बढ़ाने वाले हारमोंस को नियंत्रित करता है।

    • एक रिसर्च में यह भी पता चला है कि चॉकलेट ब्लड प्रेशर को नियंत्रित और कम करने का काम भी करता है।

    • कुछ लोगों का यह भी मानना है कि चॉकलेट एंटी ओक्सिडेंट के गुण होते हैं जिसके कारण आप जल्दी बूढ़े नहीं होते।

    • साथ ही चॉकलेट की बीज में कई औषधीय गुणों की भरमार होती है।

    • रोज डार्क चॉकलेट खाने से दिल की बीमारी होने का खतरा एक तिहाई तक कम हो जाता है।

    • चॉकलेट का मुंह पर एंटीबैक्टीरियल प्रभाव होता है जिससे यह दांतों की सड़न से बचाता है।

    इसके कुछ फैक्ट की बात करें तो:
    • एक आम इंसान अगर चॉकलेट की लगभग 22 पाउंड की खुराक ले ले तो यह उसके लिए घातक हो सकता है।

    • तकनीकी रूप से वाइट चॉकलेट चॉकलेट नहीं होती क्योंकि उसमें कोको की मात्रा कम या बिलकुल नहीं होती।

    यह भी पढ़ें: World Smile Day: वर्ल्ड स्माइल डे कब क्यों और कैसे मनाया जाता है?

    भारत और चॉकलेट

    भारत में चॉकलेट की खपत काफी ज्यादा है और भारत में दूध और कोको की पैदावार लगातार बढ़ने के कारण चॉकलेट उद्योग भारत में काफी तेजी से बढ़ रहा है भारत सऊदी अरब, सिंगापुर, नेपाल, हांगकांग और यूएई में चॉकलेट निर्यात कर रहा है।

    चॉकलेट बनाने वाले पेड़ कोको की फसल को बीसवीं शताब्दी के शुरुआती दौर में भारत लाया गया था और व्यवसायिक तौर पर इसकी खेती 1960 के दशक से ही होती आ रही है। आज भी भारत में यह बागवानी फसल के रूप में जानी जाती है और इसकी खेती भी की जाती है तथा कोको एक उष्णकटिबंधीय फसल है और भारत की जलवायु इसके लिए बिल्कुल अनुकूल है इसीलिए भारत में इसका विकास काफी अच्छी तरह हो रहा है।


    यह भी पढ़ें: बॉयफ्रेंड डे: कब, क्यों और कैसे मनाते है?

    अंतिम शब्द

    दोस्तों अब तो आपको पता चल ही गया होगा कि वर्ल्ड चॉकलेट डे कब क्यों और कैसे मनाया जाता है साथ ही विश्व चॉकलेट दिवस (International Chocolate Day) पर आपको चॉकलेट का इतिहास (History) और इसे खाने के फायदे (Benifits) भी Hindi में पता चल गए होंगे।

    अगर आपको विश्व चॉकलेट दिवस (World Chocolate Day 2021) की यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी चॉकलेट से जुड़ी यह महत्वपूर्ण जानकारियां पता चल सके। और आप सभी को HaxiTrick.com की तरफ से Happy Chocolate Day.

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post