-->

सुंदर पिचाई की बायोग्राफी: जानिए Google के CEO बनने का सफर और उनकी सैलरी (Net Worth)

    Biography of Sundar Pichai: Google के CEO सुंदर पिचाई का जीवन परिचय (Net Worth And Income)

    Google के CEO सुंदर पिचाई का नाम तो सभी ने सुना होगा वर्तमान गूगल सीईओ सुंदर पिचाई भारतीय मूल के हैं और तमिलनाडु से संबंध रखते हैं। पिछले साल दिसंबर 2019 में उन्हें गूगल की पैरंट कंपनी अल्फाबेट का सीईओ भी घोषित किया गया है ऐसे में आपको Sundar Pichai के जीवन के बारे में जरूर जान लेना चाहिए।

    आज के इस लेख में हम आपको सुंदर पिचाई की जीवनी (बायोग्राफी) बताने जा रहे हैं।

    Sundar Pichai Biography in Hindi
    Sundar Pichai Biography in Hindi

    Sundar Pichai की जीवनी (Biography)

    कौन है: सुंदर पिचाई का पूरा नाम पिचाई सुंदरराजन है वे एक भारतीय-अमेरिकी व्यापार कार्यकारी है। तथा Alphabet Inc. और Google LLC के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) भी हैं।

    जन्म कहाँ हुआ: Pichai का जन्म 10 जून 1972 (उम्र 48 वर्ष) को भारत के तमिलनाडु राज्य के मदुरै में हुआ था उनके पिता का नाम "रघुनाथ पिचाई" है जो एक 'इलेक्ट्रिकल इंजीनियर' थे और ब्रिटेन की जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी में कार्य करते थे। उनकी माँ का नाम "लक्ष्मी" है जो एक कामकाजी महिलाएं एवं स्टेनोग्राफर भी थी। उनका एक भाई भी है जिसका नाम 'श्रीनिवासन पिचाई' है।


    पढ़ाई-लिखाई (Education):
    सुंदर पिचाई ने अपनी स्कूली शिक्षा जवाहर विद्यालय अशोक नगर (चेन्नई) से पूरी की और बारहवीं कक्षा वनवाणी मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल से पूरी कर आईआईटी खड़गपुर में बीटेक की डिग्री के लिए मेटालर्जिकल इंजीनियरिंग में दाखिला लिया।

    इसके बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका की "स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी" में दाखिला लिया जहां उन्होंने भौतिक विज्ञान और इंजीनियरिंग के विषय में मास्टर ऑफ साइंस (MS) की डिग्री को हासिल किया तथा MBA की पढ़ाई उन्होंने पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से की।


    करियर (Career): गूगल में आने से पहले उन्होंने कई नौकरियों को ठुकराया और अपने करियर की शुरुआत अमेरिका के सिलिकॉन वैली में स्थित एक सेमीकंडक्टर निर्माता कंपनी में इंजीनियर तथा प्रोडक्ट मैनेजर के रूप में की। तथा 2002 में MBA करने के बाद मैकिन्से एंड कंपनी में एक सलाहकार के रूप में शामिल हो गए।

    इसके बाद उन्होंने Google Join किया और अपनी मेहनत और लगन के चलते 11 सालों में वे Google के सीईओ बन गए।


    यह भी पढ़े: Google का मालिक कौन है? यह किस देश की कंपनी है? इसके इतिहास और आविष्कार की कहानी

    सुंदर पिचाई के गूगल ज्वाइन करने से CEO बनने तक की कहानी

    सुंदर पिचाई ने गूगल को वर्ष 2004 में ज्वाइन किया और उस समय उन्होंने प्रोडक्ट और इनोवेशन ऑफिसर का कार्यभार संभाला इसके बाद वह गूगल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और प्रोडक्ट चीफ भी रहे उनकी एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के डेवलपमेंट तथा गूगल क्रोम के निर्माण में बड़ी भूमिका रही।

    कैसें मिली सुंदर पिचाई को सफलता:
    शुरुआती दिनों में वह एक छोटी सी टीम के साथ गूगल सर्च के "टूलबार" के ऊपर काम करते थे और यह टूल बार इंटरनेट एक्सप्लोरर और Firefox आदि के लिए तैयार किया जाता था जिससे लोग फायरफॉक्स और इंटरनेट एक्सप्लोरर जैसे ब्राउज़र पर आसानी से गूगल सर्च कर सके।

    उन्होंने सोचा क्यों ना खुद का ही ब्राउज़र तैयार किया जाए जिसमें लोग गूगल सर्च को डायरेक्टली इस्तेमाल कर सकें। लेकिन जब सुंदर पिचाई ने गूगल का खुद का ब्राउज़र बनाने के बात की तो उस समय गूगल के CEO Eric Schmidt और फाउंडर Larry Page ने इनके इस Idea को ठुकरा दिया।

    उन्होंने इसे अधिक खर्चीला और एक बड़ा प्रोजेक्ट बताते हुए इसे बनाने से इंकार कर दिया। और कहा की Internet Explorer जैसें बड़े वेब ब्राउज़र पहले से ही मार्किट में है हम उनके सामने नहीं टिक पाएंगे।

    इस पर पिचाई ने कहा की इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट अपना खुद का Search Engine Launch करे हमें अपना Browser लॉन्च कर देना चाहिए। परंतु सुंदर पिचाई की इस बात पर गूगल के संस्थापकों और CEO ने ध्यान नहीं दिया और उनसे कहा की तुम बस Google Toolbar पर अपना ध्यान लगाओ।

    इसके बाद उन्होंने गूगल टूलबार पर अपना काम जारी रखा परंतु एक दिन वही हुआ जो Sundar Pichai ने कहा था।

    Microsoft ने Internet Explorer से Google को हटाकर अपने Search Engine 'Bing' को Default सर्च इंजन बना दिया। जिससे Google ने अपने करीबन 30 करोड़ ग्राहकों को खो दिया।

    परंतु अच्छी बात यह थी कि उस समय तक गूगल टूलबार लगभग तैयार होने वाला था, जिसे कुछ समय में पूरी तरह तैयार कर मार्किट में लॉन्च कर दिया गया इससे लोग इन्टरनेट एक्स्प्लोरर पर गूगल को डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन बना कर इस्तेमाल कर सकते थे जिससे Google को अपने खोए हुए करीब 80% Customers वापस मिल गए।

    इस झटके के बाद Larry page और Eric Schmidt को Sundar Pichaai की Value समझ आ चुकी थी। और उन्हें आखिरकार सुंदर का ब्राउज़र बनाने का आईडिया मानना पड़ा।

    उनके इस प्रयास के बाद वर्ष 2008 में गूगल ने अपना एक यूजर फ्रेंडली Internet Browser लॉन्च कर दिया जिसका नाम क्रोम (Chrome) था। यह ब्राउज़र कितना सफल है आज हम सभी जानते हैं क्रोम ब्राउजर आज दुनिया का नंबर 1 ब्राउज़र है और इसने फायरफॉक्स तथा इंटरनल एक्सप्लोरर जैसे कई ब्राउज़र को पीछे छोड़ दिया है।

    Sundar Pichai CEO of Google and Alphabet
    Sundar Pichai CEO of Google and Alphabet

    यही उनकी लाइफ का सबसे प्रमुख सफलता का कारण बना इसके बाद वह गूगल के सह-संस्थापकों और दुनियाभर की नजर में आ गए और 2008 में उनका प्रमोशन किया गया और वह "वॉइस प्रेजिडेंट ऑफ़ प्रोजेक्ट डेवलपमेंट" के रूप में कार्य करने लगे। और 2012 में उन्हें Chrome के Senior vice President के पद पर नियुक्त कर दिया गया।

    इसके बाद 2013 में उन्होंने एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के हेड के रूप में अपनी भूमिका अदा की और Android One की शुरूआत कर इसे 500 करोड़ लोगों तक इसे पहुँचाया।

    तथा अगस्त 10, 2015 को सुंदर पिचाई को गूगल का सीईओ (CEO of Google) घोषित कर दिया गया। हालांकि उनके पास ट्विटर और माइक्रोसॉफ्ट से भी कई ऑफर आए परंतु गूगल ने उन्हें ज्यादा पैसा देकर रोक लिया।

    इसके बाद गूगल का पुनर्गठन हुआ और अल्फाबेट इंक गूगल की पैरंट कंपनी बन गई और पिछले साल दिसम्बर 2019 में सुंदर पिचाई को अल्फाबेट का सीईओ भी बना दिया गया।


    यह भी पढ़े: Happy Birthday Google 2020: गूगल के जन्मदिन पर ऐसे करें विश

    Personal Life (पत्नी और बच्चे)

    सुंदर पिचाई ने अपनी IIT की Batchmate और गर्लफ्रेंड अंजलि हरयानी के साथ शादी कर ली और उनके दो बच्चे भी हैं उनके बेटे का नाम किरण पिचाई तथा उनकी बेटी का नाम काव्या पिचाई है।

    वे भारतीय मूल के हैं लेकिन अब वह अमेरिका के नागरिक बन गए हैं और अपने परिवार के साथ न्यूयॉर्क शहर में रहते हैं।

    सुंदर पिचाई को क्रिकेट तथा फुटबॉल में काफी ज्यादा इंटरेस्ट है। क्रिकेट में उनके पसंदीदा प्लेयर सचिन है वह स्कूल में अपनी क्रिकेट टीम के कप्तान थे।


    यह भी पढ़े: Facebook Amazing & Intresting Facts

    सुन्दर पिचाई की इनकम और उनसे जुडी प्रश्नोत्तरी (FAQs)


    प्रश्न: सुंदर पिचाई गूगल के सफल सीईओ कैसे बने?

    सुंदर पिचाई ने गूगल ड्राइव, जीमेल और गूगल वीडियो codec (WebM) में महत्वपूर्ण कार्य किए हैं उनकी देख रेख बनाए गए एंड्राइड और ChromeOS ने उन्हें सफलता की सीढ़ी दिखाई। और Google के संस्थापकों की नजर में आने के बाद उनके सराहनीय कार्यों को देखते हुए उन पर अन्य जिम्मेदारियाँ दी गयी अंततः वे गूगल एलएलसी और इसकी पैरेंट कंपनी अल्फाबेट इंक के सीईओ बने।


    प्रश्न: Sundar Pichai की Net Worth कितनी है?

    2020 में पिचाई की कुल संपत्ति (Net Worth) $600 मिलियन और 1.2 बिलियन डॉलर के बीच अनुमानित है। सुंदर पिचाई, एक भारतीय-अमेरिकी प्रौद्योगिकी कार्यकारी हैं, और वर्तमान में Google और इसकी मूल कंपनी, Alphabet के सीईओ के रूप में कार्यरत है।


    प्रश्न: सुंदर पिचाई की सैलरी कितनी है 2020 में?

    सुंदर पिचाई दुनिया में सबसे अधिक वेतन पाने वाले अधिकारियों में से एक हैं। दिसंबर 2019 की फाइलिंग के अनुसार 2020 में पिचाई की वार्षिक सैलरी $20 लाख़ है जो भारतीय रूपयों में करीब 14.2 करोड़ रूपये है। साथ ही इसके शीर्ष पर उन्हें $240 मिलियन (1,707 करोड़ रुपये) का स्टॉक पैकेज दिया जा रहा है।

    2019 में, पिचाई की वार्षिक क्षतिपूर्ति $281 मिलियन थी, जो कि भारतीय रूपयों में करीबन 2,145 करोड़ के बराबर है। तथा उनकी प्रतिदिन की कमाई लगभग 5.87 करोड़ रुपये थी।


    प्रश्न: सुंदर पिचाई का घर कहां है?

    सुंदर पिचाई भारत में चेन्नई के अशोक नगर में अपने परिवार के साथ 2 कमरें वाले एक अपार्टमेंट में रहते थे परंतु अब वे अमेरिका के नागरिक है और अपनी पत्नी अंजली पिचाई और बच्चों के साथ California के Los Altos Hills में अपने घर में रहते हैं। जिसे उन्होंने 2013 में ख़रीदा था उनके इस घर की कीमत $40 Million (करीब 300 करोड़ रूपए) है तथा उनके पास Mercedes Maybach s650 कार भी है।


    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post