-->

Lockdown Meaning in Hindi: लॉक डाउन का क्या मतलब है?

    Advertisement

    Lockdown Meaning in Hindi: लॉक डाउन का मतलब क्या है? जानिए यह किन राज्यों में किया गया है

    Lockdown Ka Matlab: लॉकडाउन (Lock Down) का हिंदी मतलब 'तालाबंदी' होता है, जिसका अर्थ यह है कि अब कोई भी शख्स घर से बाहर नहीं निकल सकता हालांकि आप बहुत अधिक जरुरी काम होने पर घर से बाहर निकल सकते है जैसे: राशन-पानी लेने, डॉक्टर के पास जाने, बैंक के काम और इसी तरह के अन्य जरुरी काम... लॉकडाउन एक तरह की इमरजेंसी व्यवस्था होती है।


    Lock Down Meaning in Hindi: अगर किसी राज्य या शहर को लॉकडाउन किया जाता है तो उस दौरान वहां के लोगों को निकलने से निकलने की मनाही है। परंतु इस स्थिति में जीवन जीने के लिए बुनियादी चीजों को खरीदने और आवश्यक काम के लिए ही बाहर निकलने की इजाजत होती है। इस दौरान जरूरत पड़ने पर लोग दवा-पानी, सब्जी, राशन, के लिए बाहर जा सकता है अथवा बैंक, डाक और अस्पताल के काम के लिए अनुमति मिलने की सम्भवना होती है।

    Lockdown Meaning in Hindi Matlb
    Lockdown Meaning in Hindi Matlb

    क्यों किया जा रहा है लॉक डाउन का ऐलान:

    आपको बता दें की देश और दुनिया में जिस तरह से कोरोना वायरस अपना पाँव पसार रहा है, ऐसे में इससे बचने का एकमात्र उपाय लॉकडाउन ही है क्योंकि जब कोई व्यक्ति घर से बाहर जाता है तो वह ना केवल लोगों के संपर्क में आता है, बल्कि हवा के जरिए फैलने वाला यह वायरस एक दुसरे में ट्रान्सफर भी हो सकता है जिससे लोगों का कोरोना संक्रमण से ग्रसित होने का खतरा बढ़ जाता है।


    भारत समेत विश्व के कई हिस्सों में कोरोना वायरस Lock Down जैसी स्थिति है और लॉकडाउन का ऐलान भी किया गया है, पंजाब, महाराष्ट्र दिल्ली, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश के कई हिस्सों में भी लॉकडाउन का ऐलान किया गया है, और कोरोना के कहर को देखते हुए भारत में Lock Down का सख्ती से पालन करने को कहा गया है, यह बंद ज्यादातर 31 मार्च तक के लिए लगाया गया हैं।

    कोरोना वायरस ने जिस तरह से चीन, ईरान, अमेरिका, इटली और यूरोपीय देशों में तबाही मचाई है, और लॉक डाउन के जरिए यहाँ जिस प्रकार कोरोना पर काबू पाया गया है इसे देखते हुए भारत में भी coronavirus के संक्रमण को कम करने और खत्म करने के मकसद से देश के अलग-अलग हिस्सों को लॉक डाउन किया जा रहा है।


    यह भी पढ़ें 👉 कोरोना वायरस क्या है? जानिए Coronavirus के लक्षण इससे बचने के उपाय तथा इलाजी

    चीन से फैले खतरनाक कोरोना वायरस से भारत समेत दुनिया के करीबन 160 से अधिक देश कोविड-19 महामारी की दहशत में हैं, सबसे ज्यादा चिंता वाली बात यह है कि इस वायरस की वैक्सीन अब तक नहीं बन पायी है।

    दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या डरा देने के लिए काफी है जो करीबन 3 लाख है, साथ ही इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा भी बढकर 13 हजार से ज्यादा हो गया है, ऐसे में सही समय पर लॉक डाउन करना जरुरी हो जाता है इटली में तालाबंदी में हुई देरी के कारण ही आज इटली में मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा है।


    किन राज्यों और शहरों को किया गया है लॉक डाउन:

    कोरोना के चलते चीन ने वुहान शहर को सबसे पहले पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया था, अब भारत भी 22 मार्च को जनता कर्फ़्यू के चलते बंद है जबकि:

    उत्तरप्रदेश के लखनऊ, गाजियाबाद, नोयडा, आजमगढ़, कानपुर, आजमगढ़, प्रयागराज, वाराणसी, आगरा, मुरादाबाद, अलीगढ, बरेली, लखीमपुर, गोरखपुर, सहारनपुर, और मेरठ में लॉकडाउन के पहले चरण में 23 मार्च से 25 मार्च तक लागू रहेगा, और ज़रूरत पड़ने पर इसे आगे भी बढाया जाएगा।
    दिल्ली के सातों जिले,
    मध्यप्रदेश के करीब आठ शहर
    महाराष्ट्र का मुंबई, पुणे, नागपुर, पिंपरी-चिंचवड़,
    गुजरात के कुछ बड़े शहर
    तथा राजस्थान, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, चंडीगढ़ में मार्च तक पूरी तरह से लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है।, तो वहीं उत्तराखंड में जनता कर्फ़्यू को 31 मार्च तक बढाया गया है।

    भारत ही नहीं बल्कि ब्रिटेन, स्पेन, अर्जेन्टीना, रियो डि जेनेरियो, इटली के कई शहरों, अमेरिका का कैलिफोर्निया, तथा कई यूरोपीय देशों और नेपाल ने भी लॉकडाउन का ऐलान किया है।


    यह भी पढ़ें 👉 ये है कोरोना वायरस वाली फिल्म: Contagion 2020 Movie In Hindi

    जिस तरह से भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में वृद्धि हो रही है और जैसे-जैसे राज्यों की सरकारें अपने शहरों को पूरी तरह से बंद कर रही है, ऐसे में यह अनुमान लगाया जा सकता है की कोरोना से अपने देशवासियों को होने वाले खतरे को देखते हुए भारत की केंद्र सरकार पूरे देशभर में लॉकडाउन का ऐलान कर सकती है।

    और यह कदम एक तरह से देशहित में लिया गया ठोस कदम होगा और यह लोगों पर थोपा गया किसी भी तरह का प्रशासनिक दबाव नहीं बल्कि एक नैतिक दबाव होता है जिससे इस जानलेवा संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।


    Lockdown पर सरकार दे रही है यह सहायता:

    👉 दिल्ली के सभी सैलरी वाले लोगों को इन नौ दिनों का वेतन दिया जाएगा।


    👉 दिल्ली में BPL कार्ड धारकों को 1.5 गुना राशन दिया जाएगा।


    👉 दिल्ली में वृद्धा, विकलांग और महिलाओं को अप्रैल और मई की पेंशन एक साथ दी जाएगी।


    👉 पंजाब में रजिस्टर्ड मजदूरों को 3000 रुपए दिए जाएंगे।


    👉 उत्तरप्रदेश के पंजीकृत मजदूरों को 1000 रुपए दिए जाएंगे।


    लॉकडाउन के समय क्या-क्या खुला रहेगा: अस्पताल, फायर डिपार्टमेंट, पानी, टेलिकॉम, राशन की दुकाने, डेरी, दवाई की दुकाने, बैंक, एटीएम, पेट्रोल पम्प और काम से आने और काम पर जाने वालों के लिए चुनिन्दा ट्रांसपोर्ट जैसे कुछ बस और ट्रेन आदि।

    साथ ही लॉकडाउन की स्थिति में पुलिस, डॉक्टर, सफाईकर्मियों, मीडियाकर्मियों सहित सभी लोग हित से जुड़े लोगों को काम पर जाना होता है। परन्तु सरकारी और प्राइवेट कम्पनियां बंद रहती है।


    लॉकडाउन के समय क्या करें क्या ना करें:

    1. बहुत जरूरी काम या बुनियादी ज़रूरत का सामान लेने के लिए ही घर से बाहर जाए।

    2. 'वर्क फ्रॉम होम' की निति को अपनाए और घर पर रहकर किए जाने वाले काम करें,

    3. भीड़ में ना जाए और 5 लोगों से ज्यादा का ग्रुप बनाकर बात-चित ना करें।

    4. अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य से कम-से कम 1 मीटर की दुरी बनाए रखें।

    5. खाने पीने के लिए अलग-अलग बर्तनों का इस्तेमाल करें।

    6. समय-समय पर हाथ धोते रहे और ज्यादा पानी पिए।

    7. बेवजह घर से बाहर ना निकले,

    8. घर में मास्क का इस्तेमाल करें या फिर खाँसते और छींकते समय मुहँ को रुमाल या टिश्यू पेपर से कवर करें।

    9. परिवार के किसी दुसरे सदस्य के मोबाइल फोन को ना छुए अथवा इस्तेमाल के पहले एवं बाद में सेनेटाइज करें।

    अन्तिम शब्द

    अब तो आप Lockdown की Meaning Hindi Me समझ ही गए होंगे और यह क्या होता और इसका मतलब (मीनिंग) क्या है यह भी आपने जान लिया है, दोस्तों सरकार ने आपको सुरक्षित रखने के लिए ही यह फैसला लिया है ताकि समय रहते COVID-19 को रोका और जड़ से खत्म किया जा सके।

    आपको Corona के चलते लागू होने वाले Lockdown की यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताए और इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
     

    About Writer