-->

विश्व किडनी दिवस 2021: World Kidney Day की थीम, इतिहास और उद्देश्य

    World Kidney Day 2021: विश्व किडनी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? थीम, इतिहास और गुर्दे की देखभाल

    International Kidney Day 2021 in Hindi: इस साल दुनियाभर में विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) 11 मार्च को मनाया जा रहा है, इसका मकसद किडनी की रोगों से देखभाल और गुर्दे के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाना है।

    किडनी जिसे हिंदी में 'गुर्दा या वृक्क' कहा जाता है मनुष्य और सभी जीव-जंतुओं के शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है, किडनी की जोड़ियों का काम रक्त शुद्धि कर मूत्र उत्पादन करना होता है।

    यह शरीर में प्राकृतिक रक्त शोधक के रूप में कार्य करते हुए, अपशिष्ट पदार्थों को हटाते हैं, और इसे 'मूत्राशय' में ट्रान्सफर कर दिया जाता है।

    World Kidney Day 2021 In Hindi
    World Kidney Day 2021 In Hindi

    आइए अब आपको वर्ल्ड किडनी डे कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है? 2021 की थीम और गुर्दे की देखभाल कैसे करे इसके बारे में विस्तार से बताते है।


    World Kidney Day 2021 के बारे में जानकारी

    किडनी की देखभाल और इससे सम्बंधित रोगों से लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से हर वर्ष मार्च महीने के दुसरे गुरूवार को विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) मनाया जाता है।

    इस साल 2021 में विश्व गुर्दा दिवस की 16वीं वर्षगांठ 11 मार्च को मनाई जा रही है जिसकी थीम 'किडनी रोग के साथ अच्छी तरह जीना' (Living Well with Kidney Disease) रखी गयी है।

    साथ ही इस मौके पर किडनी रोगों के प्रति कई जागरूकता कार्यक्रम और इवेंट्स का आयोजन किया जाता है।


    विश्व किडनी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

    विश्व किडनी दिवस (World Kidney Day) प्रतिवर्ष मार्च महीने के दूसरें गुरुवार (Thursday) को मनाया जाता है।


    वर्ष 2006 में किडनी संबंधी बीमारियों के बढ़ते आंकड़े को देखते हुए विश्व किडनी दिवस की शुरुआत इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ नेफ्रोलॉजी (ISN) एवं इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ किडनी फाउंडेशन (IFKF) की एक संयुक्त पहल के बाद हुई।

    जिसका उद्देश्य लोगों को गुर्दे के महत्व के प्रति जागरूक करना तथा इससे संबंधी बीमारियों एवं समस्याओं का निदान एवं इसका प्रभाव कम करना है।


    2006 में जब वर्ल्ड किडनी डे की शुरुआत हुई तो, 66 देशों द्वारा इसे मनाया गया। लेकिन दो सालों में ही, यह संख्या बढ़कर 88 हो गई और आज इसे दुनियाभर के लगभग 150 से ज्यादा देश मनाते है। तथा यह किडनी रोगों के सम्बन्ध में जागरूकता बढाने का सफल प्रयास साबित हुआ है।



    विश्व गुर्दा दिवस का उद्देश्य क्या है?

    विश्व किडनी दिवस गुर्दे की बीमारियों की बढ़ती समस्या को दर्शाता एक वैश्विक अभियान है इसकी शुरुआत व्यक्ति के समूचे स्वास्थ्य के लिए गुर्दे की सेहत पर ध्यान केंद्रित करने और इससे संबंधित रोगों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से की गई थी।


    इसके अलावा विश्व गुर्दा दिवस का उद्देश्य है:
    • गुर्दे संबंधित बीमारियों और इससे जुड़ी स्वास्थ्य समस्याओं का निदान करना,
    • किडनी रोगों का पता लगाने के लिए जांच को प्रोत्साहन देना,
    • गुर्दा दान करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना ताकि किडनी फेल हो जाने पर इसका ट्रांसप्लांट कर पीड़ित की जान बचाई जा सके,
    • बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ गुर्दे के महत्व बारे में जागरूकता बढ़ाना,
    • स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना ताकि किडनी रोगों को नियंत्रित या इसकी प्रगति को धीमा किया जा सके।

    विश्व किडनी दिवस की थीम (World Kidney Day 2021 Theme)

    किडनी दिवस मनाए जाने की शुरुआत से ही हर साल यह अभियान एक विशेष विषय (Theme) पर प्रकाश डालता है। इस साल वर्ल्ड किडनी डे 2021 की थीम 'Living Well with Kidney Disease' (किडनी रोग के साथ अच्छी तरह से रहना) हैं।


    बीते वर्षों की थीम्स
    • 2020: हर जगह हर किसी के लिए किडनी स्वास्थ्य - रोकथाम से लेकर जांच और देखभाल तक समान पहुंच
    • 2019: सभी के लिए किडनी का स्वास्थ्य, हर जगह
    • 2018: किडनी और महिला स्वास्थ्य शामिल करें, मूल्य, अधिकार
    • 2017: गुर्दे की बीमारी और मोटापा - स्वस्थ गुर्दे के लिए स्वस्थ जीवन शैली
    • 2016: किडनी रोग और बच्चे - इसे रोकने के लिए जल्दी अधिनियम!
    • 2015: सभी के लिए किडनी स्वास्थ्य
    • 2014: क्रोनिक किडनी रोग (CKD) और उम्र बढ़ने
    • 2013: किडनी फॉर लाइफ - स्टॉप किडनी अटैक!
    • 2012: दान - जीवन के लिए गुर्दे - प्राप्त करें
    • 2011: अपनी किडनी की रक्षा करें: अपने दिल को बचाएं
    • 2010: अपनी किडनी को सुरक्षित रखें: मधुमेह को नियंत्रित करें
    • 2009: अपनी किडनी को सुरक्षित रखें: अपना दबाव कम रखें
    • 2008: आपकी अद्भुत किडनी!
    • 2007: सीकेडी: आम, हानिकारक और उपचार योग्य
    • 2006: क्या आपकी किडनी ठीक है?

    गुर्दे रोगों से संबंधित फैक्ट्स और आंकड़े:

    • गुर्दा के जरूरतमंद मरीजों और ट्रांसप्लांट कराने वाले मरीजों में बड़ा अंतर है एक रिपोर्ट के मुताबिक दो लाख लोगों को किडनी की जरूरत है लेकिन इनमें से केवल 7-8 हज़ार लोगों का ही किडनी ट्रांसप्लांट हो पाता है।

    • दुनिया भर में तकरीबन 85 करोड़ लोग अलग-अलग कारणों से किडनी संबंधी रोगों से जूझ रहे हैं।

    • हर साल क्रोनिक किडनी रोग से करीबन 2.4 मिलियन लोगों की मौत हो जाती है यह मौत का छठा सबसे तेजी से बढ़ता कारक है। भारत में 10 में से 1 का क्रॉनिक किडनी डिजीज से पीड़ित होने का अनुमान है।

    • नारायणहेल्थ के मुताबिक भारत में हर साल गुर्दे की विफलता (stage V CKD) के लगभग 175000 नए मामले आते हैं जिनमें डायलिसिस की काफी सख्त जरूरत होती है।

    • GBD 2015 के अध्ययन में यह भी अनुमान लगाया गया है कि, 2015 में, 1.2 मिलियन लोगों की किडनी की विफलता से मृत्यु हो गई।


    किडनी की देखभाल और उपचार (Treatment and Taking Care of Kidneys)

    किडनी की देखभाल:
    1. स्वस्थ जीवन शैली अपनाएं, व्यायाम करे।
    2. रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पियें।
    3. शराब, अल्कोहल और धूम्रपान के सेवन से बचे।
    4. Packaged Food और तले हुए भोजन से परहेज़ करें।
    5. किडनी की नियमित समयावधि पर जांच कराएं।
    6. मधुमेह और उच्च रक्तचाप क्रोनिक किडनी रोग के प्रमुख कारक हैं इनसे बचें।

    किडनी रोगों का उपचार:

    किडनी सम्बन्धी बीमारीयों में या किडनी ख़राब हो जाने पर किडनी ट्रांसप्लांट एक बहुत महंगा इलाज माना जाता है, साथ ही डायलिसिस बैक में कमी होने के कारण भी कई मरीजों को गुर्दे की बीमारी का पर्याप्त उपचार नहीं मिल पाता है।

    बढ़िया खान-पान, बेहतर जीवन शैली और सही समय पर उपचार और इलाज गुर्दे की बीमारियों को रोकने में मददगार हो सकता है।


    अंतिम शब्द

    आपको भी स्वस्थ दिनचर्या अपना कर अपने गुर्दे (वृक्कों) की देखभाल करनी चाहिए, और अन्य लोगों को भी इसे लेकर जागरूक करने का प्रयास करना चाहिए। आपको विश्व गुर्दा दिवस की यह जानकारी (वर्ल्ड किडनी डे कब मनाया जाता है?) कैसी लगी हमें Comment करके जरूर बताए।

    और World Kidney Day 2021 की Theme की यह जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post