World Music Day 2020: विश्व संगीत दिवस कब है? इसका इतिहास, उद्देश्य और थीम

    Advertisement

    World Music Day 2020 Date: क्यों, कैसे और कब मनाया जाता है विश्व संगीत दिवस, जानें इतिहास और थीम

    Vishva Sangeet Diwas Kab Hai 2020 Date India:संगीत का संबंध हर व्यक्ति से किसी ना किसी रूप में रहा है चाहे वह व्यक्ति संगीत को शांति के लिए सुनें, गुस्से को शांत करने के लिए सुनें या फिर किसी अन्य भावनात्मक विचार से सुने संगीत सुनना सबको पसंद होता है और यह हृदय को शांति भी करता है।

    क्या आप जानते है कि भारत में संगीत का आस्तित्व सतयुग से ही रहा है आइए जानते है कैसें?

    World Music Day 2020 Date: विश्व संगीत दिवस 21 June
    World Music Day 2020 Date: विश्व संगीत दिवस 21 June

    हर एक व्यक्ति के जीवन में संगीत अपना अलग ही महत्व रखता है इसीलिए हर साल 21 June को दुनियाभर में विश्व संगीत दिवस (World Music Day 2020) मनाया जाता है आज के इस लेख में हम आपको वर्ल्ड म्यूजिक डे कब क्यों और कैसे मनाया जाता है तथा इस साल की थीम (Theme Hindi) और इसके इतिहास (History) के बारे में बताने जा रहे हैं।


    World Music Day 2020 Information in Hindi

    About World Music Day 2020 in Hindi:
    नामविश्व संगीत दिवस, ‘फेटे डी ला म्यूजिक’ (वर्ल्ड म्यूजिक डे)
    तिथि21 जून
    पहली बार21 जून 1982
    शुरुआत1982 में फ़्रांस के संस्कृति मंत्री Jack Lang द्वारा
    उद्देश्यलोगों को संगीत के बारे में तो जागरूक करना और विश्व में सदा शांति बनाए रखना।
    अगली बार21 जून 2021

    यह भी पढ़ें: 21 जून को मनाया जा रहा है पिता दिवस | Father's Day 2020 India

    कब मनाया जाता है विश्व संगीत दिवस कैसे हुई इसकी शुरुआत और इतिहास

    हर साल दुनिया भर में 21 जून को विश्व संगीत दिवस के रूप में मनाया जाता है वर्ल्ड म्यूजिक डे को फेटे डी ला म्यूजिक (Fête de la Musique) यानी म्यूजिक फेस्टिवल भी कहा जाता हैं। इसका हिंदी अर्थ संगीत समारोह या संगीत त्योहार हो सकता है।

    इस साल 2020 में विश्व संगीत दिवस 21 जून को रविवार के दिन मनाया जा रहा है। इस दिन ही पिता दिवस और अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस भी मनाया जा रहा है।


    World Music Day 2020 Wishes Images Music is in My Soul
    World Music Day 2020 Wishes Images Music is in My Soul
    World Music Day 2020 Wishes Images Music is in My Soul

    कैसे हुई इसकी शुरुआत और क्या है इतिहास:
    वर्ल्ड म्यूजिक डे की शुरुआत सन 1982 में फ्रांस में हुई थी और इसे फ्रांस (France) में पहली बार 21 जून 1982 को मनाया गया था।

    फ्रांसीसी संस्कृति मंत्री मौरिस फ़्ल्यूरेट द्वारा इसे प्रस्तावित किए जाने के बाद वर्ष 1981 में, पूर्व फ्रांसीसी संस्कृति मंत्री जैक लैंग (Jack Lang) ने संगीत के चमत्कार को विश्व संगीत दिवस के रूप में मनाने के इस विचार किया और इसकी स्थापना की। तभी से यह दिन हर साल 21 जून को मनाया जाता है जो साल का सबसे लम्बा दिन होता है।


    वर्ल्ड म्यूजिक डे मनाए जाने का श्रेय पूरी तरह से उस समय रहे सांस्कृतिक मंत्री Jack Lang को जाता है हालांकि इससे पहले अमेरिका के एक म्यूजिशियन योएल कोहेन ने भी 1976 में इस दिवस को लेकर अपना विचार प्रकट किया था।


    क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड म्यूजिक डे जानिए उद्देश्य

    यह दिन शांति को बढ़ावा देने और संगीत के माध्यम से अच्छे कामों को फैलाने के लिए मनाया जाता है। इसका सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य संगीत को सभी के लिए मुफ्त में सुलभ बनाना है। साथ ही विश्व संगीत दिवस को मनाने का उद्देश्य लोगों को संगीत के प्रति जागरूक करना है ताकि लोगों का विश्वास संगीत से न उठे।


    वर्ल्ड म्यूजिक डे का मकसद अलग-अलग तरीके से म्यूजिक का प्रचार-प्रसार करने के अलावा एक्सपर्ट व नए कलाकारों को इक्क्ठा करके एक मंच पर लाना है। साथ ही लोगों को संगीतकारों, संगीत प्रेमियों और वाद्ययंत्रों का सम्मान करना सिखाना है।

    फ़्रांस द्वारा विश्व संगीत दिवस दुनिया में सदा शांति बनाए रखना के उद्देश्य से शुरू किया गया था।


    यह भी पढ़ें: Yoga Day 2020: मोदी जी ने बताया 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

    कैसे मनाया जाता है वर्ल्ड म्यूजिक डे?

    • इसे 120 देशों के 1000 से अधिक शहरों में, बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता हैं। इसमें भारत, स्पेन, ब्रिटेन, जर्मनी, जापान, ब्राजील, संयुक्त राज्य अमेरिका, नाइजीरिया और अर्जेंटीना जैसे देश शामिल होते है।

    • हर साल 21 जून के दिन मेक म्यूजिक कंसर्ट का आयोजन किया जाता है जिसमें दुनिया भर के उत्कृष्ट कलाकारों, संगीतकारों, गायकों, रॉक बैंड, मार्चिंग बैंड और रैपर भी हिस्सा लेते है। और इसमें कौशल युक्त लोगों को एक मंच प्रदान किया जाता है जहां पर वह अपने आप और अपनी कला को लोगों तक पहुंचाने के लिए स्वतंत्र होते हैं।

      यह मेक म्यूजिक कंसर्ट पूरी तरह से मुफ्त और जनता के लिए खुले होते हैं।

    • इस वर्ष 2020 में, COVID-19 महामारी के बीच, उत्सव दुनिया भर के आयोजकों द्वारा वर्चुअल या डिजिटली मनाया जा सकता है।

    • पिछले साल विश्व संगीत दिवस 2019 की थीम "चौराहों पर संगीत" (“Music at the intersections”) थी।

    यह भी पढ़ें: 10 बेस्ट गाना बनाने वाला एप्प | Karaoke Gana Record Karne Wala Android Software

    World Music Day 2020 Quotes Photos Music is in My Soul
    World Music Day 2020 Quotes Photos Music is in My Soul
    World Music Day 2020 Quotes Photos Music is in My Soul

    भारत में संगीत की उत्पत्ति और इसका इतिहास - History of Indian Music

    संगीत की उत्पत्ति कब और किसने की?

    भारत में संगीत का इतिहास आज का नहीं बल्कि सहस्त्त्रों वर्ष पुराना है पौराणिक काल से ही ज्ञान की देवी कही जाने वाली देवी सरस्वती को वीणा वादिनी के नाम से भी जाना जाता है, बताया जाता है उन्हें भगवान शिव ने संगीत की शिक्षा दी थी और शिव को वेदों के निर्माता ब्रह्मा ने संगीत का ज्ञान दिया था। इसके बाद माता सरस्वती से यह कला नारद मुनि को प्राप्त हुई जिन्होंने इसे स्वर्ग लोक की अप्सराओं, गन्धर्वों और किन्नरों तक पहुँचाया।

    तभी से भगवान शिव का डमरु हो या कृष्ण की बांसुरी सब से ही सुर-संगीत निकलता रहा है। हमारी भारतीय संस्कृति में सुर और संगीत का महत्व शुरुआत से ही देखा गया है इसमें कबीर, रहीम, तुलसीदास और मीरा जैसे अहम नाम शामिल है।

    इन सभी तथ्यों से यह साफ हो जाता है कि भारत में पौराणिक काल से ही संगीत का अस्तित्व रहा है और इसे समस्त देवता गण एक सूत्र में पिरोते आए हैं।


    यह भी पढ़ें: World Dance Day 2020: कब और क्यों मनाते है विश्व नृत्य दिवस, इतिहास और उद्देश्य

    पहले और आज के संगीत में बदलाव और इसके कुछ फायदे:

    हालांकि पहले के संगीत और अब के संगीत में काफी अंतर देखने को मिला है जहां संगीत के लिए अधिकतर वाद्य यंत्रों का इस्तेमाल किया जाता था और बहुत कम ही कंप्यूटर पर निर्भर रहा जाता था तो वहीं आज म्यूजिक पूरी तरह से कंप्यूटर पर शिफ्ट हो गया है और Music बनाने वाले सॉफ्टवेयर की मदद से ही एक कमरे में बैठे-बैठे टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके अकेला व्यक्ति ही संगीत गढ़ देता है।

    आज संगीत प्रस्तुत करने में भी काफी ज्यादा अंतर देखने को मिला है जहां पहले शांति और सुख फैलाने के लिए संगीत को काफी सरल और सहज तरीके से पेश किया जाता था तो वहीं आज डीजे, तेज Sound और रिमिक्स के जमाने का संगीत प्रवेश कर चुका है और आज पुराने गानों के रीमिक्स का चलन जोरों पर है।


    इसके कुछ फायदे
    जहां लोग आज अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रहे हैं और अपने आप को स्वस्थ रखने का प्रयास कर रहे हैं तो वही आपको बता दें कि संगीत के कई राग भी शरीर की कई परेशानियों को दूर करने और आत्मविश्वास को बढ़ाने में कारगर साबित होते हैं।

    चाहे वह अंदर की बीमारी हो या फिर ब्लड प्रेशर, तंत्रिका तंत्र को नियंत्रित रखना हो या फिर स्नायु तंत्र को संगीत के अलग-अलग राग आपके शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर काम करते हैं और उन्हें राहत पहुंचाते हैं।


    1. संगीत आपको खुश करता है,
    2. यह तनाव कम करता है,
    3. म्यूजिक आपको अच्छी नींद देने में मदद करता है,
    4. यह डिप्रेशन कम करता है,
    5. संगीत याददाश्त को मजबूत करता है।

    अंतिम शब्द

    हमारे जीवन में संगीत का महत्व काफी ज्यादा है, उसे हम चाहे रेडियो के जरिए सुने, टीवी के जरिए सुने या खुद से बजाकर सुने यह मन को तृप्त कर देता है।


    तो दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे कि विश्व संगीत दिवस कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है और उसका इतिहास (History और विषय (Theme) क्या है। अगर आपको World Music Day 2020 Hindi की यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे सोशल मिडिया पर भी जरूर शेयर करे।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
     

    About Writer