-->

International Day for Tolerance 2021: अंतर्राष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस कब और क्यों मनाते है?

    International Day for Tolerance 2021: कब, क्यों और कैसे मनाते है, जाने इसका महत्व

    इंटरनेशनल डे फॉर टॉलरेंस २०२१: दुनियाभर में हर साल 16 नवंबर को अंतर्राष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस (International Day for Tolerance) मनाया जाता हैं। इसकी शुरूआत दुनिया भर में समानता और विविधता को प्रोत्साहित करने के मकसद से वर्ष 1996 में यूनाइटेड नेशनस द्वारा की गयी थी।

    International Day for Tolerance 2021 in Hindi
    International Day for Tolerance 2021 in Hindi Images

    अंतर्राष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस और मदनजीत सिंह पुरस्कार

    1996 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (संकल्प 51/95 द्वारा ) द्वारा संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों को 16 नवंबर को सहिष्णुता के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाने को कहा। इसके बाद वर्ष 1995 में, सहिष्णुता के लिए संयुक्त राष्ट्र ने महात्मा गांधी के जन्म की 125 वीं वर्षगांठ के अवसर पर, यूनेस्को ने सहिष्णुता और अहिंसा के प्रचार के लिए 'मदनजीत सिंह पुरस्कार' की स्थापना की।

    सहिष्णुता और अहिंसा के प्रचार के लिए यूनेस्को द्वारा मदनजीत सिंह पुरस्कार वैज्ञानिकता, कलात्मक, सांस्कृतिक या संचार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण गतिविधियों को ध्यान मे रखते हुए दिया जाता है, जिसका उद्देश्य सहिष्णुता और अहिंसा की भावना को बढ़ावा देना है।

    यह पुरस्कार 16 नवंबर को अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर सहिष्णुता के लिए हर दो साल में दिया जाता है। पुरस्कार सहिष्णुता और अहिंसा के लिए विशेष रूप से सराहनीय और प्रभावी तरीके से योगदान करने वाले संस्थानों, संगठनों या व्यक्तियों को दिया जा सकता है, इसमें पुरस्कार स्वरूप दस हजार डॉलर की राशि दी जाती है।


    यह भी पढ़े 👉 भारतीय संविधान दिवस 2021: 26 नवंबर को क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय कानून दिवस जाने

    International Day for Tolerance क्यों मनाते है?

    यह दिन संयुक्त राष्ट्र संस्कृतियों और लोगों के बीच आपसी समझ को बढ़ावा देते हुए सहिष्णुता को मजबूत करने के लिए मनाया जाता है। साथ ही विश्व स्तर पर समानता और विविधता को प्रोत्साहित करना भी इसे मनाए जाने के मुख्य उद्देश्यों में से एक है।

    बढ़ते हिंसक चरमपंथ के इस युग में यह कहीं अधिक महत्वपूर्ण है और मानव जीवन के लिए एक बुनियादी उपेक्षा की विशेषता है। ऐसे में इस दिन की अनिवार्यता बढ़ जाती है।


    यह भी पढ़े 👉 अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस कब, क्यों और कैसे मनाते है, जानिए थीम और इतिहास

    अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस (International Day for Tolerance)

    • 1. अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस (International Day for Tolerance) की स्थापना यूनेस्को द्वारा वर्ष 1995 में की गयी थी।

    • 2. UNESCO द्वारा हर साल 16 नवम्बर को अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस मनाया जाता है।

    • 3. साल 1996 में संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 16 नवंबर को प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस मनाने के लिए सभी संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों को आमंत्रित किया गया था।

    • 4. यूनेस्को ने साल 1995 में महात्मा गांधी जी की 125 वीं वर्षगांठ पर सहिष्णुता और अहिंसा को बढ़ावा देने के मकसद से ‘मदनजीत सिंह पुरस्कार’ बनाया।

    • 5. मदनजीत सिंह पुरस्कार विज्ञान, कला, संस्कृति या संचार के क्षेत्र में सहिष्णुता और अहिंसा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किए गए योगदान हेतु दिया जाता है।

    • 6. लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए हर दो वर्ष पर यह पुरस्कार व्यक्तियों, संगठनों या संस्थानों को दिया जाता है, इसमें प्रोत्साहन के तौर पर 10,000 डॉलर की राशि दी जाती है।

    यह भी पढ़े 👉 विश्व टेलीविजन दिवस कब और क्यों मनाते है, जानिए World Television Day पर TV का महत्व

    अंतिम शब्द

    अब तो आप अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस (International Day for Tolerance in Hindi) के बारे में पूरी तरह से समझ गए है, यानि इंटरनेशनल डे फॉर टोलरेंस कब क्यों कैसे मनाया जाता है, आपको बता दें की यह दिन भारत में भी बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है और इस दिन 16 नवम्बर को ही National Press Day भी मनाया जाता है.

    तो अगर आपको हमारा When Why And How International Day for Tolerance is Celebrated in India, Hindi का यह लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर share करें।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post