व्हाट्सअप्प पिगासस स्पाईवेयर अटैक: क्या है, कैसे काम करता है, और इससे बचने की जानकारी

    Whatsapp Pegasus Spyware Attack Information In Hindi

    व्हाट्सअप्प पिगासस स्पाईवेयर अटैक: क्या है, कैसे काम करता है, और इससे कैसे बचे हिंदी में

    Whatsapp Pegasus Spyware Attack Hindi: इस साल 2019 में लोकसभा चुनावों के समय मई महीने में दुनियाभर के कई पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के व्हाट्सएप अकाउंट पिगासस स्पाईवेयर के अटैक का शिकार हुए थे जिसकी मदद से उनकी चैट की जासूसी की गई थी। इसमें भारत के मशहूर पत्रकार और कुछ सामाजिक कार्यकर्ता भी इस Pegasus Spyware Attack के शिकार हुए थे। व्हाट्सएप द्वारा खुद ही अपने ब्लॉग पर इस हैकिंग/जासूसी (Spy) की पुष्टि की गयी है। व्हाट्सएप ने बताया कि ऐसा करने के लिए Pegasus नाम के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर वीडियो कॉलिंग की गई।
    What Is Whatsapp Pegasus Spyware Attack Protection From Hackers Hindi
    What Is Whatsapp Pegasus Spyware Attack Protection From Hackers Hindi

    अगर इस मामले को Short में समझे तो यह पूरा मामला इजरायल की एनएसओ ग्रुप (NSO Group) से जुड़ा हुआ है, व्हाट्सएप ने इस NSO Group के खिलाफ सैन फ्रांसिस्को की फेडरल कोर्ट में यह कहकर केस (मुकदमा) किया है, कि इस इजरायली ग्रुप ने ही Pegasus Spyware Software का इस्तेमाल कर भारत समेत दुनियाभर के 20 देशों के करीब 1,400 पत्रकारों और कार्यकर्ताओं के चैट की जासूसी (Spying) की है। जो अप्रैल-मई, 2019 के बीच हुई तथा इसके लिए सभी 1,400 लोगों के फोन पर व्हाट्सएप मिसकॉल की मदद से मैलवेयर (वायरस) भेजे गए।

    तो आइए इस खतरनाक Whatsapp Pegasus Spyware सॉफ्टवेयर के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करते है और जानते हैं कि यह क्या-क्या कर सकता है और इससे बचने के तरीके क्या हैं? इससे कैसे बचे (Pegasus Spyware Protection).

    What Is Pegasus Spyware Software Attack In Hindi, How to Protect Your Phone from Pegasus, and How It Works to Hack or Spy Your Phone All Information In Hindi.

    पिगासस स्पाईवेयर क्या है | What is Pegasus Spyware in Hindi

    दुनिया के सबसे खतरनाक Spying Softwares में से एक Pegasus Spyware को NSO ग्रुप (जिसे Q साइबर टेक्नोलॉजीजी के नाम से भी जाना जाता है) द्वारा बनाया गया है, इस जासूसी करने वाले सॉफ्टवेयर (पिगासस) को Q Suite भी कहा जाता है। जो एंड्रॉयड और IOS Devices की जासूसी करने में सक्षम है। इसकी सबसे ख़ास बात यह है की यह स्पाईवेयर बिना यूजर की इजाजत और जानकारी के अपने आप फोन में इंस्टॉल हो सकता है। और फोन में इंस्टॉल होने के बाद इस हटाना आसान काम नहीं है।

    पिगासस स्पाईवेयर सॉफ्टवेयर आसानी से आपके Private Data (निजी जानकारियों) को चुराने या उस पर नजर बनाए रखने में माहिर है। यह सॉफ्टवेयर आपके फोन में मौजूद कॉन्टेक्ट लिस्ट, मैसेज पासवर्ड, कैलेंडर, कैमरा, माइक्रोफोन टेक्स्ट मैसेजेज, समेत विभिन्न मैसेजिंग एप्स के कॉलिंग फीचर और यूजर के GPS लोकेशन को ट्रैक कर उस पर पल-पल नजर बनाए रख सकता है।

    👉व्हाट्सएप फिंगरप्रिंट अनलॉक फीचर कैसे ऑन करे, स्टेप बय स्टेप तरीका हिंदी में

    पिगासस सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है? | How Pegasus Spyware Works and Whatsapp Hacked By Hackers in Hindi

    पिगासस सॉफ्टवेयर के जरिए किसी फोन को हैक करना काफी आसान माना जाता हैं, क्योंकि किसी भी फोन को हैक करने के लिए हैकर्स किसी भी तरह से उनके द्वारा भेजे गए लिंक पर क्लिक करवाता है, लिंक की मदद से एप इंस्टॉल करवाया जाता है। लेकिन व्हाट्सएप के मामले में यह पूरी तरह से अलग था यहाँ बिना किसी लिंक के ही यह सॉफ्टवेर इनस्टॉल करा लिया गया जिसके लिए हैकर्स द्वारा व्हाट्सऐप के कॉलिंग फीचर की मदद ली गई है।

    इस स्पाईवेयर को 1400 लोगों के फोन में इंस्टॉल कराने के लिए व्हाट्सएप के वीडियो और ऑडियो कॉलिंग फीचर का इस्तेमाल किया गया था। पिगासस सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल कराने के लिए इन सभी लोगों के व्हाट्सएप नंबर पर सिर्फ वीडियो/ऑडियो मिस्ड कॉल (Misscall) दी गई थी।


    👉व्हाट्सएप ब्रॉडकास्ट क्या है कब और कैसे यूज़ करें?

    व्हाट्सएप पिगासस स्पाईवेयर से कैसे बचे | How to Protect Your Phone/Whatsapp from Pegasus:

    1. हमेशा व्हाट्सएप के नए वर्शन का इस्तेमाल करें और अपने whatsapp को अपडेटेड रखें।

    2. व्हाट्सएप के साथ-साथ अपने फोन के ऑपरेटिंग सिस्‍टम के सॉफ्टवेर वर्शन को भी Updated रखें।

    3. किसी भी नॉन सिक्योर और नॉन ट्रस्टेबल लिंक पर क्लिक ना करें।

    4. अगर आपको लगता है कि आपका फोन इस स्‍पाइवेयर के कब्जे में आ चुका है, तो तुरंत अपना व्‍हाट्सएप अनइन्‍स्‍टॉल कर दें।

    अगर आप इस Pegasus Spyware Attack का शिकार हो चुके है, तो आपको सबसे पहले अपने फोन से सभी अकाउंट जैसे: gmail, फेसबुक, अमेज़न, याहू, ट्विटर, बैंकिंग एप्स आदि को डी-लिंक करें, और दुसरे सिस्टम पर इन सभी के पासवर्ड को तुरंत बदले, और साथ ही इसकी चपेट में आए फोन का इस्तेमाल करने से बचे।


    👉Whatsapp Hidden Last Seen Tracker For Android & PC

    व्हाट्सएप के इन वर्जन पर हुआ पिगासस स्पाईवेयर का अटैक:

    इस हैकिंग के शिकार कुछ ख़ास व्हाट्सएप वर्शन इस्तेमाल करने वाले लोग ही हुए जो इस प्रकार है:

    Android Whatsapp Version: 2.19.134 से कम

    Android Business Whatsapp Version: 2.19.44 से कम

    Iphone IOS Whatsapp Version: 2.19.51 से पहले

    Iphone IOS Business Whatsapp Version: 2.19.51 से पहले

    Windows Whatsapp Version: 2.18.348 से पहले

    हालांकि इनके बाद वाले वर्जन में यह बग(Bug) फिक्स कर दिया गया है, और व्हाट्सएप ने इस अटैक के बारे में अपने 1,400 यूजर्स को मैसेज भेजकर जानकारी दी है।

    👉WhatsApp Status को Facebook Stories पर कैसें शेयर करें, जानें

    अन्तिम शब्द | Whatsapp Pegasus Spyware Attack India

    फ्रेंड्स इस खतरनाक Whatsapp Pegasus Spyware सॉफ्टवेयर के बारे में आपने पूरी जानकारी हासिल कर ही ली यानि कि यह क्या-क्या कर सकता है, यह कैसे काम करता है और इससे बचने के तरीके क्या हैं? इससे कैसे बचे (Pegasus Spyware Protection).

    What Is Pegasus Spyware Software Attack In Hindi, how to protect your phone from pegasus, and How It Works to Hack or Spy Your Phone All Information In Hindi के इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी यह महत्वपूर्ण जानकारी मिल सके.
    ---------यह भी पढ़े:----------

    व्हाट्सअप्प पिगासस स्पाईवेयर अटैक: क्या है, कैसे काम करता है, और इससे कैसे बचे हिंदी में, What Is Pegasus Spyware Software Attack, how to protect your phone Information In Hindi

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post