क्रिसमस डे कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है - Christmas Day Information in Hindi

    क्रिसमस कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है - सैंटा क्लॉस X-mas Tree | Christmas Day All Information in Hindi

    Merry Christmas Day All Information in Hindi: भारत में विभिन्न समुदाय और धर्म के लोग रहते हैं और भारत में लगभग सभी धर्मों के त्योहारों को महत्व दिया जाता है और काफी धूमधाम से मनाया भी जाता है क्रिसमस (Merry Christmas 25 December 2019) का त्यौहार ईसाईयों का प्रमुख त्यौहार है, इस दिन सरकारी अवकाश होने के कारण दफ्तर, स्कूल और निजी कार्यालय आदि बंद रहते हैं। इस दिन सभी ईसाई समुदाय के लोग चर्च (गिरजाघर) जाते हैं और सामूहिक प्रार्थना करते हैं। India में Christmas Day को बड़ा दिन भी कहा जाता है.
    Wish You A Merry Christmas 25 December 2019 All Information In Hindi Image
    Wish You A Merry Christmas 25 December 2019 All Information In Hindi Image
    आज हम आपको क्रिसमस के इस त्यौहार के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं जिसमें आपको यह जानने को मिलेगा की क्रिसमस कब मनाया जाता है, (When is Christmas Day is Celebrated) 25 दिसंबर को ही क्रिसमस डे क्यों मनाते हैं (Why We Celebrate Christmas In Hindi) और इसके पीछे की कहानी (Christmas Day Story in Hindi) क्या है तथा सैंटा क्लॉस कौन है (Who is Santa Claus in Hindi) और क्रिसमस या X-mas (एक्स मस) कैसे मानते है, इसके बारे में भी जान लेते है।

    Christmas Day 25 December 2019 All Information in Hindi

    • 1. क्रिसमस डे कब मनाया जाता है | When is Christmas Day is Celebrated
    • 2. 25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस डे | Why We Celebrate Christmas In Hindi
    • 3. क्रिसमस डे के पीछे की कहानी (Christmas Day Story in Hindi)
    • 4. सैंटा क्लॉस कौन है (Who is Santa Claus in Hindi)
    • 5. क्रिसमस ट्री का महत्व (Importance of Christmas Tree)
    • 6. कैसे बनाते हैं क्रिसमस का त्यौहार | How Christmas Is Celebrated In Hindi

    यह भी पढ़ें: 26 जनवरी को पहला गणतंत्र दिवस क्यों और कैसे मनाया गया

    1. क्रिसमस डे कब मनाया जाता है | When is Christmas Day is Celebrated

    वैसे तो पूरी दुनिया में क्रिसमस डे 25 दिसंबर को मनाया जाता है लेकिन इसकी शुरुआत 24 दिसंबर की शाम से होती है जिसे Christmas Evening कहा जाता है. यह त्यौहार ईसाई समुदाय के लोगों के लिए एक खास त्यौहार है जिसे भारत समेत सभी ईसाई धर्म के लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं. भारत में भी यह त्यौहार 25 दिसंबर को ही मनाया जाता है इस बार 2019 में क्रिसमस डे या बड़ा दिन 25 दिसंबर 2019 को मनाया जाएगा।

    यह भी पढ़ें: फोटो बनाने वाला एप्प फ्री में डाउनलोड करें | 5 Best Photo Editing Apps For Android

    2. 25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस डे | Why We Celebrate Christmas In Hindi

    जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि यह इसाई समुदाय के लोगों द्वारा मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण त्योहार है इस दिन को मनाए जाने का मुख्य कारण 25 दिसंबर को जन्में यीशु मसीह का जन्म दिवस मनाना है. जी हां दोस्तों 25 दिसंबर के दिन को ईसा मसीह के जन्मदिन को सेलिब्रेट करने के लिए क्रिसमस डे रूप में मनाया जाता है. लेकिन कुछ लोगों की मानें तो उनका जन्म 25 दिसंबर को नहीं हुआ था.

    आइए अब आपको 25 दिसंबर यानी क्रिसमस डे/बड़ा दिन के पीछे की कहानी (Christmas Day Story in Hindi) के बारे में बताते हैं जिससे आप क्रिसमस डे या फिर क्रिसमस के इस त्यौहार को और भी अच्छी तरह समझ सके।

    यह भी पढ़ें: गुरुनानक जयंती 2019 बर्थडे: जानें कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है प्रकाश उत्सव, पूरी जानकारीा

    3. क्रिसमस डे के पीछे की कहानी (Christmas Day Story in Hindi):

    ईसाई धर्म के पवित्र ग्रंथ बाइबिल की माने तो ईसा मसीह का जन्म माता मरियम के गर्व से हुआ था ऐसा तब संभव हुआ जब मरियम के पास 1 दिन स्वर्ग दूत आए और उन्होंने उनकी कोख से ईश्वर के पुत्र के जन्म की बात कही और कहा कि आपकी कोख से जन्म लेने वाली संतान ही इस संसार के कष्टों से मुक्ति दिलाएगी. यह सुनकर वह काफी डर गई.

    हालांकि माता मरियम उस समय अविवाहित थी इसीलिए उन्होंने उस देवदूत से पूछा कि मेरा गर्भवती होना असंभव है क्योंकि मैं अभी अविवाहित हूं, तब उस देवदूत ने उन्हें बताया कि यह सब एक योजना से किया जाएगा. जिसके बाद माता मरियम की शादी युसूफ से हुई.

    शादी के बाद दोनों अपने नगर से दूर बेथलेहम (Bethlehem) नामक जगह में रहने गए और इसी जगह पर माता मरियम ने रात के समय अस्तबल में यीशु मसीह (भगवान के पुत्र) को जन्म दिया.

    4. सैंटा क्लॉस कौन है (Who is Santa Claus in Hindi):

    दोस्तों क्रिसमस हो और लोग सैंटा क्लॉस को याद ना करें ऐसा हो ही नहीं सकता, क्रिसमस के सभी परंपराओं में से सेंटा क्लोज भी काफी अहम है, आपने सांता क्लॉस को ज्यादातर कार्टून की फोटो में देखा होगा, जो एक गोल मटोल बूढा आदमी होता है और लाल रंग की पौशाक पहना यह आदमी सफ़ेद रंग की दाढ़ी मुछों में बना होता है.

    सैंटा क्लॉस का असली नाम संत निकोलस (Saint Nicholas) है, इनका जन्म ईसा मसीह की मृत्यु के उपरांत लगभग 280 साल बाद तुर्की के मायरा (Myra) में हुआ वह यीशु के गहरे उपासक थे. उन्होंने अपना पूरा जीवन ईसा मसीह के नाम कर दिया वह लोगों की सहायता करना है करना ही अपना मकसद समझते थे. और इसीलिए वह यीशु के जन्मदिन यानी 25 दिसंबर को के मौके पर रात के अंधेरे में बच्चों को गिफ्ट देने के लिए निकल पड़ते थे और बच्चे भी हर साल संता के आने का इंतजार किया करते थे और यह परंपरा आज भी चली आ रही है लोग आज भी संता का इंतजार करते हैं.

    5. क्रिसमस ट्री का महत्व (Importance of Christmas Tree):

    क्रिसमस ही नहीं क्रिसमस डे पर क्रिसमस ट्री का भी एक खास महत्व है, जब यीशु के जन्म दिन की शुरुआत हुई तो लोग इस मौके पर फर के एक पेड़ को सजाया करते थे, हालांकि अब इसे क्रिसमस ट्री के नाम से जाना जाता है, जिसे 25 दिसंबर को सजाया जाता है। साथ ही इस दिन कार्ड देने की परंपरा भी चली आ रही है, लोग शुभकामनाएं देने के लिए ग्रीटिंग कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, हालांकि आज का जमाना व्हाट्सएप फेसबुक का है लेकिन उस समय 1842 में विलियम एंग्लो ने पहला क्रिसमस कार्ड भेजकर इसकी शुरुआत की थी।

    यह भी पढ़ें: Happy Thanksgiving Day 2019: जानें कब, क्यों और कैसे मनाते है धन्यवाद दिवस, जाने इतिहास

    6. कैसे बनाते हैं क्रिसमस का त्यौहार | How Christmas Is Celebrated In Hindi

    क्रिसमस की शुरुआत 24 दिसंबर को क्रिसमस इवनिंग से होती है जो भारत समेत कई गैर ईसाई धर्म के अनुयायियों द्वारा भी मनाया जाता है।

    क्रिसमस से पहले लोग क्रिसमस की शॉपिंग करते हैं और थैंक्सगिविंग डे भी मनाते हैं जिसके बाद क्रिसमस की शुरुआत होती है यह त्योंहार (Festival) बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. इस दिन से पहले घरों व गिरजाघरों (चर्चो) में साफ सफाई और सजावट की जाती है, साथ ही क्रिसमस ट्री को भी अच्छे से सजाया और इसे तैयार करके उसमें अच्छी लाइटें और चमकीले, मोमबत्ती आदि लगाई जाती है। इस दिन सभी ईसाई धर्म के उपासक चर्च (गिरजाघर) जाते हैं और प्रार्थना (Prayer) करते हैं।

    साथ ही आपको इस दिन किसी ना किसी जरूरतमंद की सहायता जरूर करनी चाहिए और दूसरों के लिए सैंटा बनना चाहिए।

    यह भी पढ़ें: फोटो जोड़कर वीडियो कैसे बनाए - Photo Se Video Banane Wala Apps Download

    अंतिम शब्द

    दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे कि क्रिसमस डे कब क्यों और कैसे मनाया जाता है (When How And Why is Christmas Day is Celebrated In Hindi) साथ ही क्रिसमस और ईसा मसीह के जन्म की स्टोरी, (Christmas Day Story in Hindi) भी आपको पता चल गई है और तो और आपने अब Santa Claus सैंटा क्लॉस और क्रिसमस ट्री के महत्व Importance of Christmas Tree को भी समझ लिया है.

    अगर आपको क्रिसमस डे के बारे में यह जानकारी (Merry Christmas Day All Information in Hindi) अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस तरह की महत्वपूर्ण जानकारी मिल सके।
    ---------यह भी पढ़े:----------
    क्रिसमस डे कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है - Christmas Day Information in Hindi क्रिसमस डे कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है - Christmas Day Information in Hindi Reviewed by Sandeep Kumar on Wednesday, December 25, 2019 Rating: 5

    Merry Christmas Day All Information in Hindi, क्रिसमस कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है, Why how when Christmas Celebration In Hindi, Santa Claus Kaun Hai, Tree

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
     

    About Writer