-->

World Environment Day 2021: विश्व पर्यावरण दिवस, इतिहास, थीम और मेजबान देश

विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को मनाया जा रहा है, इस बार की थीम ecosystem restoration रखी गयी है और UNEP के साथ साझेदारी में पाकिस्तान इसकी मेजबानी करेगा। आइये इसके बारें में विस्तार से जानते है...

    World Environment Day 2021: क्यों और कब मनाया जाता है विश्व पर्यावरण दिवस, जानें इसका महत्व, इतिहास, थीम

    World Environment Day 2021 Hindi: 2021 में विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को मनाया जा रहा है, इस बार की थीम ‘ecosystem restoration’ रखी गयी है और UNEP के साथ साझेदारी में पाकिस्तान इसकी मेजबानी करेगा।

    पृथ्वी पर संतुलन बनाए रखने के लिए मनुष्य को पर्यावरण के साथ संतुलन बनाना काफी आवश्यक है हमें पेड़ पौधों जीव-जंतुओं और प्रकृति के साथ संतुलन बनाए रखना और उनका संरक्षण करना चाहिए ताकी पृथ्वी की आयु मे बढोतरी की जा सके। आज मनुष्य ने जिस तरह से भी पर्यावरण पर अत्याचार किया है वह किसी से छिपा नहीं है।

    World Environment Day 2021 in Hindi Vishwa Paryavaran Diwas

    पृथ्वी पर जीवन बनाए रखने के लिए हमें पर्यावरण के साथ तालमेल बनाए रखना होगा मानव क्रियाकलापों के कारण आज वातावरण लगातार दूषित होता जा रहा है और इसका बुरा प्रभाव हमारे ही जीवन पर पड़ रहा है।

    आज के इस लेख में हम आपको विश्व पर्यावरण दिवस कब क्यों और कैसे मनाया जाता है तथा इसका उद्देश्य और लक्ष्य क्या है और इस साल Vishwa Paryavaran Diwas 2021 की थीम क्या है और कौन करेगा इसकी मेजबानी (Hosting Country) इन सभी के बारे में जानने का प्रयास करेंगे।


    World Environment Day 2021 in Hindi

    World Environment Day Information in Hindi:
    नामविश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day)
    तिथि5 जून
    पहली बार5 जून 1974
    शुरुआत1972 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा
    उद्देश्यदुनियाभर में पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों को सचेत करने और इसके महत्व को समझाने हेतु।
    अगली बार5 जून 2022
    थीमजैव विविधता (Ecosystem Restoration)
    मेजबानसंयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के साथ साझेदारी में पाकिस्तान

    विश्व पर्यावरण दिवस कब मनाया जाता है? कैसे हुई इसकी शुरुआत जानिए इतिहास?

    विश्व पर्यावरण दिवस मनाए जाने की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 5 जून सन 1972 में की गई थी तभी से वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे हर साल 5 जून को मनाया जाता रहा है भारत में इस साल विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा।


    इतिहास विश्व पर्यावरण दिवस की नींव उस समय रखी गई जब पहली बार 1972 मे स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में एक पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया गया था जिसमें भारत समेत दुनिया भर के लगभग 119 देशों ने हिस्सा लिया था। हालांकि पहला विश्व पर्यावरण दिवस इसके दो साल बाद 5 जून 1974 को मनाया गया था।


    यह भी पढ़ें: Earth Day 2021: इस पृथ्वी दिवस पर जानिए कोरोना वायरस से हुए पृथ्वी को फायदे के बारें में

    क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड एंवायरमेंट डे जानिए कारण

    दुनिया भर में मनुष्य कार्यकलापों के कारण बढ़ते प्रदूषण और पर्यावरण की क्षति को रोकने के उद्देश्य से ही विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है और इसे मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना भी है।


    • पेड़ों की अंधाधुंध कटाई को रोकना,
    • जैव विविधता को बनाए रखना और विलुप्त होने वाले जीव जंतुओं का संरक्षण करना,
    • लोगों को प्रकृति और पर्यावरण के प्रति सचेत करना,

    पर्यावरण दिवस मनाना क्यों जरूरी है?
    यूनाइटेड नेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक हर साल करीब 70 लाख लोग प्रदूषण से मारे जाते हैं हवा में मौजूद प्रदूषण के महीन कण सांस लेने के दौरान फेफड़ों में जाकर इसे बुरी तरह प्रभावित करते हैं और इससे दमा और सांस लेने में दिक्कत जैसी बीमारियां उत्पन्न होती है।


    भारतीय पर्यावरण दिवस - वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे इन इंडिया

    भारत में इसकी शुरुआत से ही विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता रहा है। 1972 में जब स्टॉकहोम में पर्यावरण को लेकर सम्मेलन हुआ तो भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री मती इंदिरा गांधी ही एकमात्र ऐसी विदेशी प्रधानमंत्री थी जिन्होंने इस सम्मेलन में भाग लिया, बाकी देशों के प्रमुख इस विश्व सम्मेलन में शामिल नहीं थे।

    उन्होंने पर्यावरण के कई गंभीर मुद्दों पर अपनी राय रखी और पर्यावरण संरक्षण के लिए उन्होंने प्रिवेंशन एंड कंट्रोल पॉल्यूशन एक्ट 1974 भी पास किया।

    श्रीमती इंदिरा गांधी जी प्रदूषण के मुद्दे पर इतनी कठोर थी कि उन्होंने 1980 में पर्यावरण विभाग की स्थापना कर डाली। और उन्होंनें पर्यावरण संरक्षण के सबसे बड़े आंदोलन चिपको को भी अपना पूरा सहयोग दिया।

    इसके बाद भारत में 19 नवंबर 1986 को पर्यावरण संरक्षण को लेकर पर्यावरण संरक्षण अधिनियम कानून भी लागू किया गया।



    विश्व पर्यावरण दिवस की थीम (World Environment Day Theme 2021)

    विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत से ही यह दिवस एक खास थीम पर आधारित होता है और हर थीम का कुछ ना कुछ महत्व और मकसद होता है। पिछली बार 2020 की थीम जैव विविधता (Biodiversity) को लेकर थी तो वहीं इस साल 2021 की थीम 'पारिस्थितिकी तंत्र बहाली' (‘ecosystem restoration’) है - यह एक ऐसी चिंता है जो तत्काल और अस्तित्व दोनों है। जैव विविधता पृथ्वी पर जीवन की विविधता का वर्णन करती है।


    पिछली साल 2020 का नारा TIME FOR NATURE है इसका हिंदी मतलब प्रकृति के लिए समय (टाईम फ़ॉर नेचर) होगा।

    यह थीम हमें पर्यावरण के लिए थोड़ा समय निकालने पर जोर देती दिखाई दे रही है जहां लोग आजकल अपने कामों में व्यस्त हैं वही इस थीम के माध्यम से लोगों को अपने व्यस्त दिनचर्या में से थोड़ा समय निकालकर प्रकृति पर भी ध्यान देने को कहा जा रहा है और प्रकृति के लिए भी थोड़ा योगदान करें यही इस नारे का मतलब और उद्देश्य है।


    World Environment Day Themes in Hindi:
    2020जैव विविधता
    2019वायु प्रदूषण को हराएँ
    2018प्लास्टिक प्रदूषण को हराएँ
    2017प्रकृति से लोगों को जोड़ना
    2016दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए दौड़ में शामिल हों
    2015सात अरब लोग, एक ग्रह, देखभाल के साथ उपभोग करें,
    2014समुद्र स्तर नहीं अपनी आवाज उठाएँ!
    2013सोचो, खाओ, बचाओ
    2012हरित अर्थव्यवस्था: क्यो इसने आपको शामिल किया है
    2011जंगल: प्रकृति आपकी सेवा में
    2010बहुत सारी प्रजाति। एक ग्रह। एक भविष्य
    2009आपके ग्रह को आपकी जरुरत है- जलवायु परिवर्तन का विरोध करने के लिये एक होना
    2008CO2, आदत को लात मारो- एक निम्न कार्बन अर्थव्यवस्था की ओर
    2007पिघलता बर्फ? - एक गंभीर विषय
    2006रेगिस्तान और मरुस्थलीकरण
    2005हरित शहर: ग्रह के लिए योजना
    2004चाहते हैं! समुद्र और महासागर
    2003पानी - दो बिलियन लोग इसके लिए मर रहे हैं
    2002पृथ्वी को एक मौका दो
    2001जीवन की वर्ल्ड वाइड वेब
    2000पर्यावरण मिलेनियम - अधिनियम के लिए समय

    विश्व पर्यावरण दिवस 2021 का मेजबान कौन है?

    हर साल World Environment Day के मौके पर दुनिया भर के देशों के साथ एक समारोह आयोजित किया जाता है और कोई ना कोई देश इसकी मेजबानी (Host) करता है और हर साल अलग-अलग देशों को मेजबानी का मौका मिलता है इस साल विश्व पर्यावरण 2021 की वैश्विक मेजबानी संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के साथ साझेदारी में पाकिस्तान करने जा रहा हैं, यह मेजबानी 2020 में जर्मनी के साथ साझेदारी में कोलंबिया ने की थी।

    कोलंबिया को मेजबान देश के तौर पर इसलिए चुना गया था क्योकि पृथ्वी पर यह सबसे अधिक जैव विविधता वाले देशों में से एक है, यह फूलों का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक और कॉफी का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। साथ ही यह पक्षियों और ऑर्किड की सबसे बड़ी विविधता रखता है और पौधों, तितलियों, मीठे पानी की मछलियों और उभयचरों की विविधता में इसे दूसरा स्थान प्राप्त है।


    आपको बता दें कि 2019 में World Environment Day की Host Country चीन (China) थी तो वही 2018 में 45वें पर्यावरण दिवस की मेजबानी भारत (India) को मिली थी।


    कैसे मनाया जाता है विश्व पर्यावरण दिवस

    वैसे तो हर साल विश्व पर्यावरण दिवस पर कई प्रकृति और पर्यावरण संबंधी कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें वृक्षारोपण साफ सफाई और जागरूक करने के लिए कई कार्यक्रम का भी आयोजन भी शामिल किया जाता है, परंतु इस साल की तस्वीर काफी बदली-बदली लग रही है।

    इस साल 2020 में विश्व पर्यावरण दिवस काफी अलग होने जा रहा है इस लॉकडाउन के चलते जिस तरह से प्रदूषण में कमी आई है और नदियां साफ होती दिखाई दे रही हैं।

    यह सभी अब से पहले 60 वर्षों में किसी भी पर्यावरण दिवस पर नहीं हुआ ऐसा पहली बार होगा जब विश्व पर्यावरण मनाते समय पिछले 1 साल में प्रदूषण की मात्रा में इतनी कमी देखने को मिली है।


    इससे पर्यावरण प्रेमियों की भी चिंता कम हो जाएंगी क्योंकि हवा और वातावरण की शुद्धता में काफी सुधार हुआ है। अब जिस तरह से पर्यावरण में सुधार हुआ है हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि इस सुधार को लॉकडाउन खुलने के बाद भी ऐसा ही सकारात्मक बनाए रखे। दोस्तों विश्व पर्यावरण दिवस तभी सफल हो पाएगा जब हम जिम्मेदारी से पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक हो। परन्तु इस साल लाखों लोगो द्वारा इसे डिजिटल तरीके से मनाया जाएगा।


    World Environment Day 2021 Theme and host country?

    The theme for World Environment Day 2021 is "Ecosystem Restoration", and the host country is "Pakistan in the partnership with UNEP".


    विश्व पर्यावरण दिवस 2021 का विषय "पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली" है, और मेजबान देश "यूएनईपी के साथ साझेदारी में पाकिस्तान" है।


    अंतिम शब्द

    Friends अब तो आप विश्व पर्यावरण दिवस क्यों, कैसे और कब मनाया जाता है इसका इतिहास (History) और शुरुआत के बारे में समझ ही गए होंगे, साथ ही इस साल वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे मेजबान देश कौन है और इस साल की थीम (Theme) क्या है यह भी आपको पता चल गया होगा।

    अगर आपको World Environment Day की Hindi में दी गयी यह जानकारी महत्वपूर्ण लगी तो इसे दुसरे लोगों के साथ भी जरूर शेयर करे। और आपसे निवेदन है की एक जिम्मेदार नागरिक बने और देश में पर्यावरण दिवस को सफल बनाए।

    follow haxitrick on google news
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post