Jio Glass हुआ भारत में लॉन्च? जानिए इसकी कीमत और ख़ास फीचर्स

जियो ग्लास एक मिक्स रियलिटी आधारित स्मार्ट वियरेबल डिवाइस है, यहाँ इसके फीचर्स, कीमत और यह कैसे काम करता है? इसके बारे में बताया गया है।

Reliance Jio Glass क्या है? जानिए Price और Features?

वर्ष 2020 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की 43वीं एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) के दौरान कंपनी ने पहली बार JioGlass को लोगों के सामने पेश किया था। तब से आज तक लोग इस डिवाइस को लेकर काफी ज्यादा उत्साहित है, और इस डिवाइस की कीमत (Price) और लॉन्च डेट जानने के साथ ही यह कैसे काम करता है? और इसे कैसे खरीदें (Buy) यह भी जानना चाहते हैं।

दरअसल वर्ष 2022 में आयोजित हुए इंडिया मोबाइल कांग्रेस में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को जिओ ग्लास का उपयोग करते देखा गया था, जिसके बाद यह एक बार फिर से ट्रेंड में आ गया। आखिर क्या है जिओ ग्लास और इसके ऐसे कौन से फीचर्स हैं, जिसके लिए लोग इसका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, आइए जानते है।

Jio Glass Features Price & Launch Date in India
Jio Glass Features Price & Launch Date in India

 

जियो ग्लास क्या है? (What is Jio Glass in Hindi)

रिलायंस जिओ द्वारा लांच किया गया जियो ग्लास एक मिक्स रियलिटी आधारित स्मार्ट वियरेबल डिवाइस है, यह यूजर को वर्चुअल एक्सपीरियंस (VR) देने के साथ ही ऑगमेंट रियल्टी (AR) भी प्रदान करता है। चश्मे जैसा दिखने वाला यह डिवाइस आपको 2D के साथ 3D विजुअल्स का भी मजा देगा, इसकी मदद से आप एक शानदार वर्चुअल वर्ल्ड का अनुभव ले सकते हैं।

जिओ के इस स्मार्ट चश्मे का इस्तेमाल ई-लर्निंग या वर्चुअल क्लास, मीडिया, एंटरटेनमेंट और गेमिंग आदि के लिए किया जा सकता है। हालांकि इसे खासतौर से होलोग्राम कंटेंट के लिए लांच किया गया है। इसकी मदद से आप अपने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एक्सपीरियंस को शानदार बना सकते हैं।

 

 

जिओ ग्लास कैसे काम करता है?

दरअसल जियो ग्लास अपने सभी अवयवों का इस्तेमाल करके उपयोगकर्ता के आसपास के क्षेत्र में एक मिक्स रियलिटी बनाता है। इसके साथ ही यह उनके 3D होलोग्राफिक इमेज या 2D अवतार भी दिखता है और ग्लास में लगे माइक्रोफोन और स्पीकर यूजर को चल रही वर्चुअल कॉल के दौरान दूसरे प्रतिभागियों के साथ बातचीत करने की अनुमति देता है। यह सब एक वर्चुअल वर्ल्ड में होता है। जो रियल लाइफ की कॉपी करके तैयार किया गया हो सकता है।

वीडियो कॉलिंग के समय आप इसमें सामने वाले व्यक्ति को 3D अवतार में देख सकते हैं जो बात करते समय आपको आपके सामने दिखाई देगा। इतना ही नहीं आप इस वीडियो कॉल में किसी तीसरे या अन्य व्यक्ति को 2D में भी देख सकते हैं जो पहले से Video Calling पर जुडे लोगों के साथ ही 2D View में दिखाई देगा।

आप वीडियो कॉलिंग के दौरान अपनी प्रेजेंटेशन को भी 3D व्यू में शेयर कर सकते हैं, जो सभी Video Caller के साथ जुड़े लोगों के सामने दिखाई देगी।

 

Reliance Jio Glass के Features:

कटिंग एज टेक्नोलॉजी के साथ आने वाले जिओ ग्लास डिवाइस में 50 डिग्री के फील्ड आफ व्यू वाली हाई क्वालिटी (1920×1080 पिक्सल) डिस्प्ले लगी है, जो 100 इंच की वर्चुअल स्क्रीन में बदल सकती हैं। यूजर्स इस डिवाइस पर एआर और वीआर मोड के बीच भी आसानी से स्विच करने के साथ ही अपने स्मार्टफोन और टैबलेट से भी इससे कनेक्ट कर सकते हैं।

इस स्मार्ट डिवाइस में इनबिल्ट स्पीकर और माइक्रोफोन दिया गया है। यह इसके लिए बनाए गए 25 से अधिक XR ऐप्स को भी सपोर्ट करता है, जिन्हें आप JioImmerse XR स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। यह पर्सनलाइज्ड ऑडियो और 3D होलोग्राम जैसे ऑप्शन के साथ आता है। इसमें कंट्रोलर्स (वर्चुअल असिस्टेंट सपोर्ट) भी उपलब्ध है जिनकी मदद से आप ब्राइटनेसऔर वॉल्यूम को कंट्रोल कर सकते हैं।

जियो ग्लास फीचर्स
डिस्प्लेFHD (1920×1080) TUV लो ब्लू लाइट सर्टिफिकेशन के साथ
सेंसरप्रॉक्सिमिटी और 9 एक्सिस आईएमयू
कनेक्टिविटीडिटैचेबल USB-C 1.5 मीटर केबल
बैटरी4000mAh बैटरी (4 घंटे रनटाइम 3D मोड )
कम्पेटिबल डिवाइसDP समर्थित फोन और टैबलेट (Android, iOS) और लैपटॉप (Windows और Mac)
वजन69 ग्राम

पढ़ाई के लिए इसमें 3D वर्चुअल क्लासरूम भी होंगे, जिसमें आप हिस्ट्री ज्योग्राफी और अन्य Classes भी 3D एक्सपीरियंस के साथ ले सकेंगे।

 

Jio 3D Glass Price & Availability in India

लगभग 4 साल पहले सामने आए जिओ ग्लास की कीमत और मार्केट में इसकी लॉन्चिंग डेट को लेकर कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है। हो सकता है इस साल 2024 में इसे भारतीय मार्केट में लॉन्च कर दिया जाए, लेकिन ध्यान रखें यह कोई आम चश्मा या सनग्लास नहीं है इसीलिए इसकी कीमत भी ₹5000 से ₹15000 के बीच या इससे अधिक भी हो सकती है।

आपको बता दें कि गूगल भी वर्ष 2013-14 में अपना गूगल ग्लास प्रोटोटाइप लॉन्च कर चुकी है, हालांकि कंपनी इसकी काफी महंगी कीमत (लगभग ₹1 लाख), भद्दे दिखने वाले डिजाइन और अन्य कानूनी वजहों के चलते वर्ष 2015 में इसका उत्पादन बंद कर दिया।

आपको बता दें की जियो का यह एआर चश्मा भारत में ही बना है और इसे टेस्सेरैक्ट कंपनी द्वारा डेवलप किया गया है। अगस्त 2019 में, रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा इस कंपनी का अधिग्रहण किया गया था।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *