World Consumer Rights Day 2020: विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस in Hindi

    World Consumer Rights Day 2020: विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस कब क्यों और कैसे मनाया जाता है, जानिए थीम और इतिहास

    Vishwa Upbhokta Adhikar Diwas 2020 Date: 'जागो ग्राहक जागो'... आपने दूरदर्शन और कई दूसरे चैनलों पर इसका प्रचार जरूर देखा होगा, दोस्तों यह एक उपभोक्ता अधिकारों को और ग्राहकों को जागरूक करने को लेकर एक अभियान या विज्ञापन है।

    दोस्तों आज के जमाने में हर कोई एक ग्राहक ही है चाहे वह, मैं हूं.. या आप या... कोई दुकानदार, सब एक दूसरे पर आश्रित हैं ऐसे में अगर आप एक ग्राहक है तो आपको अपने अधिकारों के बारे में जान लेना चाहिए और बाजार में होने वाली धोखाधड़ी और ठगी से बचना चाहिए।

    World Consumer Rights Day 15 March 2020 In Hindi Vishwa Upbhokta Adhikaar Diwas
    World Consumer Rights Day 15 March 2020 In Hindi Vishwa Upbhokta Adhikaar Diwas

    अगर आप उपभोक्ता अधिकारों और अपनी जिम्मेदारियों के बारे में नहीं जानते तो आज के इस लेख में हम आपको International/World Consumer Rights Day 2020 वर्ल्ड कंस्यूमर राइट्स डे के अवसर पर यह सभी जानकारी और विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस की थीम के बारे में बताने जा रहे हैं।


    When, Why and How World Consumer Rights Day is Celebrated

    कब मनाया जाता है विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस

    World Consumer Rights Day (विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस) हर साल 15 मार्च को मनाया जाता है इसका उद्देश्य उपभोक्ताओं के अधिकारों की रक्षा करना और ग्राहकों को अपने अधिकारों के बारे में जागरूक करना है पहली बार विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस वर्ष 1983 में 15 मार्च के दिन मनाया गया था जिसके बाद से हर साल यह महत्वपूर्ण दिवस मनाया जाने लगा।

    Vishwa Upbhokta Adhikar Diwas की शुरुआत 1962 में 15 मार्च के ही दिन अमेरिकी कांग्रेस के तत्कालिक अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी द्वारा उपभोक्ता अधिकारों के विषय में दिए गए एक शानदार भाषण के आधार पर की गई थी।

    इसके बाद कंजूमर इंटरनेशनल नामक एक संस्था द्वारा साल 1983 में उपभोक्ता अधिकार दिवस मनाने की शुरुआत की जिसे 15 मार्च को ही आयोजित किया गया।


    यह भी पढ़े: World Pi Day 2020: विश्व पाई दिवस कब क्यों और कैसे मनाया जाता है Facts

    भारत में राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस हर साल 24 दिसंबर को मनाया जाता है। आपको बता दें की इसी दिन भारत के तत्कालिक राष्‍ट्रपति ने उपभोक्‍ता संरक्षण अधिनियम, 1986 को स्वीकारा था।


    क्यों मनाया जाता है विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस:

    दोस्तों आपने जागो ग्राहक जागो का नारा तो जरुर सुना होगा, दोस्तों विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस ग्राहकों को ठगी से बचाने और उपभोक्ता अधिकारों के बारे में जागरूक करने के लिए मनाया जाता है.

    साथ ही इस दिन को मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य मार्किट में होने वाली ठगी, मिलावट, एमआरपी से ज्यादा दाम लेना, बिना तोले समान बेचना या नापतोल में गड़बड़ी, गरंटी के बाद भी सर्विस न करना तथा एक्सपायरी डेट या सील टूटी हुई वस्तुएं बेचने अथवा बिल ना देना जैसे अपराधों को देखते हुए ग्राहकों को अपनी जिम्मेदारियों और अधिकारों के प्रति जागरूक करना है।


    यह भी पढ़े: राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2020: National Safety Day India Information in Hindi

    अन्तर्राष्ट्रीय उपभोक्ता अधिकार दिवस की थीम | World Consumer Rights Day 2020 Theme

    हर साल विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस एक खास थीम के साथ मनाया जाता है और इस साल 2020 की अन्तर्राष्ट्रीय उपभोक्ता अधिकार दिवस की थीम "सतत उपभोक्ता" यानी कि The Sustainable Consumer है।

    आपको बता दें कि पिछले साल की 2019 के लिए थीम ‘विश्वसनीय स्मार्ट उत्पाद’ (Trusted Smart Products) थी।


    यह भी पढ़े: विश्व कैंसर दिवस 2020: जानिए कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है वर्ल्ड कैंसर डे, जाने थीम

    कैसे बनाया जाता है अन्तर्राष्ट्रीय उपभोक्ता अधिकार दिवस

    दोस्तों विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस के अवसर पर ग्राहकों को जागरूक करने और अपने जिम्मेदारियों एवं अधिकारों के बारे में बताने के लिए इस दिन विश्व स्तर पर कई कार्यक्रम चलाए जाते हैं साथ ही स्कूलों और कॉलेजों में भी इस दिन को लेकर उत्साह देखने को मिलता है और यहां भी कई प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम और इवेंट्स का आयोजन किया जाता है।

    साथ ही लोगों को उपभोक्ता ग्राहकों को उपभोक्ता अधिकारों के लिए बनाए गए कानूनों के बारे में भी विस्तार में समझाया जाता है और कंजूमर फोरम में शिकायत करने के बारे में भी जानकारी दी जाती है।


    उपभोक्ताओं के लिए बनाए गए कुछ कानून

    दोस्तों आज के जमाने में ज्यादातर ऑनलाइन ठगी की जा रही है परंतु अगर आप एक उपभोक्ता है और आपके अधिकारों का हनन होता दिखाई दे रहा है तो आप अपनी इच्छा के अनुसार उपभोक्ता आयोग में कार्यवाही कर सकते हैं, जिसमें कालाबाजारी, जमाखोरी, मिलावट, नापतोल में गड़बड़ी, बिल ना देना वस्तुओं का अधिक मूल्य लेना तथा इसी तरह के दूसरे गुनाह इन कानूनों के अंतर्गत आते हैं आइए आपको अब भारत में लागू कुछ कानून के धाराओं के बारे में भी बताते हैं।


    उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत ग्राहकों को मिले कुछ जरूरी अधिकार:

    भारतीय संविधान में भी उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 के तहत उपभोक्ताओं को भी कई अधिकार दिए गए हैं जो निम्नलिखित हैं:

    • उपभोक्ता शिक्षा का अधिकार
    • सुनवाई का अधिकार
    • सूचना पाने का अधिकार
    • चुनने का अधिकार
    • विवाद सुलझाने का अधिकार
    • सुरक्षा का अधिकार
    • शामिल है।

    यह भी पढ़े: कोरोना वायरस क्या है? जानिए Coronavirus के लक्षण इससे बचने के उपाय तथा इलाज

    उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम
    • The Consumer Protection Act, 2019
    • The Consumer Protection Act, 1986 Updated
    • The Consumer Protection Act, 1986
    • Tribunal, Appellate Tribunal Rules 2017
    • Consumer Protection Rules 1987
    • Consumer Protection Rules Amendment 2018
    • Consumer Protection Regulations 2005

    बिल लेना है जरूरी:

    दोस्तों अगर आप कोई Product या सामान मार्केट से या फिर ऑनलाइन खरीदते हैं तो आपको उसका बिल अवश्य लेना चाहिए और बिल पर अपने सामान के डिस्क्रिप्शन और नाम को ठीक तरह से चेक कर लेना चाहिए साथ ही आपको बिल पर दर्शाए गए प्राइस और आपसे लिया जाने वाला प्राइस तथा वस्तु पर छापा MRP भी जांच लेना चाहिए।

    ऐसे में अगर आप बिल नहीं लेते तो आपको बड़ा नुकसान हो सकता है मगर आपके प्रोडक्ट आसमान में कोई खामी होती है या आपको बाद में आपके साथ हुए ठगी का चलता है तो आपको उसकी कंप्लेन करने में कठिनाई आ सकती हैं।


    यह भी पढ़े: Amazon & Flipkart Par Online Shopping Kaise Kare

    World Consumer Rights Day FAQs in Hindi

    प्रश्न: भारत में राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस कब मनाया जाता है?
    उत्तर: भारत में राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस हर साल 24 दिसंबर को मनाया जाता है।

    प्रश्न: विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस कब मनाया जाता है?
    उत्तर: विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस हर साल 15 मार्च को मनाया जाता है।

    प्रश्न: उपभोक्ता अधिकार दिवस क्यों मनाया जाता है?
    उत्तर: उपभोक्ताओं को अपनी जिम्मेदारियों और अधिकारों के बारे में जागरूक करने के मकसद से ही राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस और विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस मनाया जाता है।

    प्रश्न: अन्तर्राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस पहली बार कब मनाया गया?
    उत्तर: पहला विश्व उपभोक्ता दिवस 15 मार्च, 1962 को मनाया गया था।

    प्रश्न: विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 2020 की थीम क्या है?
    उत्तर: International Consumer Day 2020 की थीम सतत उपभोक्ता (The Sustainable Consumer) है।

    अंतिम शब्द

    दोस्तों अब तो आप विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस यानी International Consumer Day कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है और इसकी थीम के बारे में समझ ही गए होंगे और आपको उसके बारे में पूरी जानकारी भी मिल गई होगी।

    अगर आपको हमारी International/World Consumer Rights Day कि यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस दिवस के बारे में और अपने उपभोक्ता अधिकारों के बारे में जानकारी मिल सके।

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
     

    About Writer