World Sleep Day 2024: विश्व नींद दिवस की थीम और कोट्स फोटोज

World Sleep Day 2024: इस साल शुक्रवार, 15 मार्च को 17वां विश्व नींद दिवस (स्लीप डे) 'वैश्विक स्वास्थ्य के लिए स्लीप इक्विटी' विषय के साथ मनाया जा रहा है।

World Sleep Day 2024: विश्व निद्रा दिवस कब मनाया जाता है?

इस साल 2024 में वर्ल्ड स्लीप सोसायटी द्वारा 17वां विश्व नींद दिवस (World Sleep Day) शुक्रवार, 15 मार्च को ‘नींद, स्वस्थ के लिए आवश्यक है‘ थीम (विषय) के साथ मनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य लोगों को स्वस्थ जीवन में नींद के महत्व को समझाना और नींद से समझौता ना करने की सलाह देना है।

विश्व निद्रा दिवस के मौके पर वैश्विक स्तर पर स्वस्थ्य जीवन में नींद की अहमियत को समझते हुए कई सारे जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यहाँ विश्व नींद दिवस मनाने के लिए कुछ कोट्स, स्लोगन और शुभकामना शायरी फोटो साझा किए गए है।

World Sleep Day in Hindi
World Sleep Day in Hindi

वर्ल्ड स्लीप डे के बारे में
नामविश्व नींद दिवस
तारीख़वसंत वर्नल विषुव से पहले पड़ने वाला शुक्रवार (मार्च में)
स्थापनावर्ष 2008 में
पहली बार14 मार्च 2008
तिथि (2024)15 मार्च
उद्देश्यस्वस्थ नींद के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाना
थीम (2024)स्लीप इक्विटी फॉर ग्लोबल हेल्थ
अगली बार14 मार्च 2025

 

विश्व नींद दिवस की शुरूआत कब और कैसे हुई? (इतिहास)

विश्व नींद दिवस, कमेटी ऑफ वर्ल्ड स्लीप सोसाइटी द्वारा आयोजित किया जाने वाला एक वार्षिक आयोजन है, यह प्रत्येक वर्ष वसंत वर्नल विषुव (उत्तरी गोलार्ध के विषुव) से पहले पड़ने वाले शुक्रवार को मनाया जाता है।

वर्ल्ड स्लीप डे मनाने की शुरुआत वर्ल्ड मेडिसिन एसोसिएशन ऑफ स्लीप मेडिसिन (WASM) और वर्ल्ड स्लीप फेडरेशन (WSF) के सहयोग से वर्ष 2008 में की गई। जिसका मुख्य उद्देश्य नींद में कमी या अनिद्रा की बेहतर रोकथाम और Management के माध्यम से दुनियाभर में नींद की बीमारियों में कमी करना है।

पहला विश्व निद्रा दिवस (WSD) 14 मार्च, 2008 को “अच्छी नींद लें, पूरी तरह से जाग्रत रहें” नारे के तहत आयोजित किया गया था।

 

विश्व निद्रा दिवस क्यों मनाया जाता है? (महत्व)

वर्ल्ड स्लीप डे स्वस्थ मानव जीवन के लिए नींद की अहमियत को समझाने और पर्याप्त नींद ना लेने से होने वाली बिमारियों तथा स्वास्थ्य और मष्तिष्क पर पड़ने वाले इसके बुरे प्रभाव के बारे में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है।

World Sleep Day Quotes in Hindi

सही और उचित समय की नींद हर व्यक्ति की अच्छी दिनचर्या के लिए काफी महत्वपूर्ण होती है, एक अच्छी नींद आपके स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि आपके मष्तिष्क के लिए भी लाभकारी होती है। परन्तु आज कल के समय की बदलती जीवनशैली, स्मार्टफोन वाली दुनिया और वयस्त दिनचर्या में लोग अक्सर काम की वजह से अपनी नींद से समझौता कर लेते हैं।

अगर आप अपनी नींद से समझौता कर रहे है तो यह आपके मानव शरीर के लिए काफी हानिकारक सिद्ध हो सकता है, नींद को हल्के में लेना या नजरअंदाज करना थकावट, मोटापे, कम उत्पादकता, Insomnia तथा मानसिक बीमारियों का बड़ा कारण बन सकता है।

 

 

विश्व निद्रा दिवस की थीम (World Sleep Day 2024 Theme)

प्रति वर्ष एक ख़ास विषय के साथ मनाए जाने वाले इस कार्यक्रम के 17वें संस्करण यानि विश्व नींद दिवस 2024 की थीम ‘वैश्विक स्वास्थ्य के लिए नींद की हिस्सेदारी‘ (Sleep Equity for Global Health) है, पिछली साल 2023 में इसे ‘नींद स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है‘ (Sleep is Essential for Health) विषय के साथ मनाया गया था।

वर्ल्ड स्लीप डे 2022 की थीम ‘अच्छी नींद, स्वस्थ दिमाग, खुशहाल दुनिया‘ थी। इससे पहले 2021 में इसे ‘नियमित नींद स्वस्थ भविष्य‘ विषय के साथ मनाया गया था। यह थीम वैश्विक स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए नींद के महत्व के बारे में दुनिया को शिक्षित करने का आह्वान है।

पिछले सभी सालों की थीमें:
सालदिनांकनारे (Slogan)
200814 मार्चअच्छी तरह से सोएं, पूरी तरह से जागें
200920 मार्चड्राइव अलर्ट, सुरक्षित पहुंचें
201019 मार्चअच्छे से सोए, स्वस्थ रहें
201118 मार्चअच्छी नींद सोए, स्वस्थ बढ़ें
201216 मार्चआसानी से सांस लें, नींद अच्छी पाए
201315 मार्चअच्छी नींद, स्वस्थ आयु
201414 मार्चआरामदायक नींद, आसान साँस, स्वस्थ शरीर
201513 मार्चजब नींद अच्छी हो, तबियत और खुशी लाजिमी है
201618 मार्चअच्छी नींद एक प्रतिक्रियाशील सपना है
201717 मार्चआराम से सोएं, पोषण जीवन
201816 मार्चनींद की दुनिया में शामिल हों, जीवन का आनंद लेने के लिए अपनी लय को बनाए रखें
201915 मार्चस्वस्थ नींद, स्वस्थ आयु
202013 मार्चबेहतर नींद, बेहतर जीवन, बेहतर ग्रह
202119 मार्चनियमित नींद, स्वस्थ भविष्य
202218 मार्चअच्छी नींद, स्वस्थ दिमाग, खुशहाल दुनिया

 

World Sleep Day 2024: Wishes and Quotes Images in Hindi

“नींद सबसे अच्छा ध्यान (मैडिटेशन) है।”
-दलाई लामा


“हर रात, जब मैं सोने जाता हूँ, मैं मर जाता हूँ। और अगली सुबह, जब मैं उठता हूँ, मैं पुनर्जन्म लेता हूँ।”
-महात्मा गाँधी


“बिस्तर पर लेटने के बाद और सोने से पहले इंसान को अपना गुस्सा भूल जाना चाहिए।”
– महात्मा गांधीजी


विश्व नींद दिवस कोट्स इन हिंदी
विश्व नींद दिवस कोट्स इन हिंदी

“नींद एक ऐसी श्रृंखला है जो स्वास्थ्य और हमारे शरीर को एक साथ जोड़ती है।”


“एक अच्छी तरह बिताया दिन, खुशनुमा नींद लाता है।”
– लियोनार्डो दा विंसी


“जब आप लगभग नींद मे पहुंच रहे हैं, लेकिन फिर भी आप हल्के से जगे हुए हैं, उस आराम के पल में एक सुखद अहसास आपके पूरे शरीर में फैल रहा होता है।”
-सद्गुरु


“निराशा और आशा के बीच सबसे अच्छा पुल रात की एक अच्छी नींद है।”
– ई. जोसेफ कोसमैन


एक स्वस्थ मानव शरीर को भलीभांति काम करने के लिए कम से कम 6-8 घंटे की नींद लेनी जरूरी होती है। जो व्यक्ति इससे कम नींद लेते हैं उनके शरीर में भूख बढ़ाने वाले लेप्टिन हार्मोन की कम होने की संभावनाए बढ़ जाती है। यह बार-बार भूख लगने का मुख्य कारण बनता है।

 

वर्ल्ड स्लीप डे कैसे मनाया जाता है?

विश्व नींद दिवस एक वार्षिक वैश्विक जागरूकता कार्यक्रम है, जिसकी मेजबानी वर्ल्ड स्लीप सोसाइटी करता है जो अमेरिका में स्थित एक गैर लाभकारी संस्था है। बीते 13 वर्षों में जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न नारों का इस्तेमाल किया जा चुका है।

वर्ल्ड स्लीप डे में दुनिया भर के 88 से अधिक देशों ने भाग लिया है, साथ ही पिछले 3 सालों से ट्विटर पर हैशटैग #WorldSleepDay ट्रेंडिंग टॉपिक बना हुआ है।

इस दिन लोगों के बीच जाकर, ख़ास तौर से युवाओं और बच्चों को नींद के प्रति जागरूक करने के लिए अभियान चलाए जाने चाहिए, हालांकि इस दिन को एक ख़ास थीम के साथ मनाया जाता है और कई इवेंट्स भी आयोजित किए जाते है।

 

अच्छी नींद के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपाय:

रात में नींद ना आने की बिमारी को ‘इन्सोमनिया‘ कहा जाता हैं, इसका मुख्य कारण तनाव (Tension), हॉर्मोंन्स और वातावरण या लाइफस्टाइल में होने वाले बदलाव है। यहाँ अच्छी नींद के लिए कुछ उपाय दिए गए है:

  • सोने के लिए आरामदायक बिस्तर का उपयोग करें।
  • रात के समय कमरे में कम रोशनी करके रखें।
  • सोने से 4 घंटे पहले अत्यधिक शराब एवं धूम्रपान तथा 6 घंटे पहले चाय कॉफी चॉकलेट आदि जैसे कैफीन के सेवन से बचें।
  • कभी खाली पेट न सोएं रात के समय हल्का भोजन करें, अत्याधिक मसालेदार या शक्कर युक्त भोजन करने से बचे।
  • सोने से पहले मोबाइल का इस्तेमाल करने से बचें।
  • हो सके तो कुछ सरल शारीरिक व्यायाम करें।
  • हल्के गर्म पानी से स्नान करें और सोने का समय निर्धारित करें।
  • खाना खाने और सोने के बीच थोडा अंतर रखे, खाकर तुरंत न सोएं।

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *