विश्व कविता दिवस (World Poetry Day 2023)

World Poetry Day 2023: विश्व कविता दिवस कब, क्यों और कैसें मनाया जाता है? जानिए महत्व

विश्व काव्य दिवस या अंतरराष्ट्रीय कविता दिवस हर साल 21 मार्च को मनाया जाता है इसका उद्देश्य देश और दुनिया भर के महान कवियों और उनके द्वारा लिखी गई कविताओं का उल्लेख करते हुए उन्हें सम्मानित करना है। जिसे यूनेस्को द्वारा वर्ष 1999 में शुरू किया गया था और UNISCO द्वारा आयोजित भी किया जाता है।

भारत के महान कवियों द्वारा लिखी गई कविताएं आज भी मन को छू जाती हैं चाहे वह ‘सूर्यकांत त्रिपाठी निराला‘ हो या हरिवंश राय बच्चन की या किसी कवित्री द्वारा लिखी गई कोई अन्य दिल छू जाने वाली कविता।

Vishwa Kavita Diwas - 21 March 2023
Vishwa Kavita Diwas – 21 March 2023
अंतरराष्ट्रीय काव्य दिवस के बारे में
नामविश्व कविता दिवस
तारीख़21 मार्च (वार्षिक)
स्थापनावर्ष 1999 में (यूनेस्को द्वारा)
पहली बार21 मार्च 2000
उद्देश्यकवियों एवं कविताओं की सृजनात्मक महिमा का सम्मान

 

विश्व कविता दिवस की शुरूआत कब और कैसे हुई? (इतिहास)

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रति वर्ष 21 मार्च को मनाए जाने वाले विश्व कविता दिवस (World Poetry Day) की शुरुआत वर्ष 1999 में पेरिस में हुए यूनेस्को के 30वें सामान्य सम्मेलन के दौरान इसे अपनाने के बाद हुई। जिसका उद्देश्य कवियों एवं कविताओं की सृजनात्मक महिमा का सम्मान करना, भाषाई विविधता का समर्थन करना और लुप्तप्राय भाषाओं को बढ़ावा देना है।

आपको बता दें कि नवम्बर 1999 में इसे मनाए जाने की घोषणा के बाद, पहला काव्य दिवस 21 मार्च 2000 को मनाया गया था।

 

क्यों मनाते है वर्ल्ड पोएट्री डे? (उद्देश्य)

दुनिया भर के कवि/कवयित्रियों और कविताओं को सम्मानित करना तथा उन्हें समर्थन देने के आलावा कविता के पढ़ने, लिखने और पढ़ाने को बढ़ावा देना भी काव्य दिवस का मुख्य मकसद है। इस दिन को कविता आंदोलन को मिली एक पहचान के रूप में भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसके सृजनात्मकता को विश्व भर में बढ़ावा देते हुए मनाया जाता है।

कविता मानवीय संस्कृति का एक अभिन्न अंग है और यह पौराणिक काल से ही आस्तित्व में है। और इसका आस्तित्व बनाए रखने के लिए कविता दिवस मनाना जरुरी है।

 

 

कैसे मनाया जाता है World Poetry Day?

  • विश्व कविता दिवस हर साल बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है इस दिन स्कूलों, कॉलेजों और शैक्षिक संस्थानों में काव्य लेखन जैसी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है।

  • कविता कवि के लिए ही नहीं है अपितु हर एक व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण होती है इसलिए इस मौके पर सरकारी संस्थाएं तथा आम लोग भी इस दिन को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह के कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

  • इस दिन एक कवि ना केवल अपनी भाषा की विशालता को लोगों के सामने प्रस्तुत करता है बल्कि वह कविता की शक्ति को भी दुनिया के समक्ष प्रस्तुत कर पाता है।

  • भारत सरकार द्वारा विश्व कविता दिवस के अवसर पर संस्कृति मंत्रालय और साहित्य अकैडमी द्वारा भी कई काव्य उत्सवों के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

  • दुनिया भर में कई देशों द्वारा काबिल और सफल कवियों को पुरस्कार भी वितरित किए जाते हैं और उन्हें सम्मानित किया जाता है।

 

कविता और कवि का महत्व?

कविता के जरिए एक कवि अपने शब्दों की ताकत और अपने व दूसरों के दिल के भाव व्यक्त कर सकता है, कविता की मदद से ही प्रकृति में फैली सुन्दरता तथा माँ और उसके बच्चे के बीच प्यार को परोसा जा सकता है।

कविताएं बच्चों, बड़ों और बूढों को भी पसंद आती है, कविताए मन को शांत करने के साथ ही हमें एक अलग संसार में ले जाती हैं, कवि एक कविता में अपनी कल्पना या सच्च बताने की कोशिश करता है।

शब्दों के साथ खेलने की कला हर किसी के पास नहीं होती और जिसके पास यह कला होती है वह कवि, शायर या लेखक बन जाता है।

ऐसे में चाहे कविता हिंदी में हो, उर्दू में, इंग्लिश में हो या फिर किसी अन्य भाषा में कविता में चार चांद लगाने का काम व्याकरण और शब्दों का ज्ञान करते हैं, साथ ही इनमें अलंकारों का काफी ज्यादा महत्व होता है कविताओं में अलंकारों का खासकर इस्तेमाल किया जाता है।

 

 

विश्व कविता दिवस, कवि और कविताओं को समर्पित एक महत्वपूर्ण दिन है, जिसे विश्व स्तर पर बड़े उत्साह और गर्व के साथ मनाया जाता है, कविता का जुड़ाव हर किसी व्यक्ति से कभी ना कभी जरूर रहा है आज कविता दिवस पर आप भी अपने अंदर के कवि को जगाए और कमेंट में कोई अच्छी सी कविता लिखें।

Referance: https://en.unesco.org/commemorations/worldpoetryday