-->

Prepaid और Postpaid क्या होता है? प्रीपेड & पोस्टपेड Meaning in hindi

    प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर है? Prepaid and Postpaid Meaning in hindi

    सिम कार्ड में रिचार्ज कराते समय या ऑनलाइन Order करते समय Prepaid और Postpaid को लेकर हम कई बार उलझन में पड़ जाते है और समझ नहीं पाते की क्या प्रीपेड है और क्या पोस्टपेड?
    अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो यहाँ आपको इन दोनों में क्या अंतर है और इनका हिंदी मीनिंग (अर्थ) क्या है इसकी पूरी जानकारी दी गयी है जिससे आप फिर कभी इसे लेकर परेशान नहीं होंगे।

    Prepaid and Postpaid Kya Hai Meaning in hindi
    Prepaid and Postpaid Kya Hai Meaning in hindi
    प्रीपेड का हिंदी अर्थ "पहले भुगतान करना" होता है। तो वहीं पोस्टपेड को हिंदी में "बाद मे भुगतान करना" कहते है।

    प्रीपेड का अर्थ क्या है? Prepaid Meaning In Hindi

    Prepaid का हिंदी मीनिंग है पूर्व-भुगतान। जहाँ Pre का अर्थ है 'पहले' (पूर्व) और Paid का मतलब है 'भुगतान' (अथार्त पहले भुगतान करना बाद में लाभ लेना)


    Prepaid SIM: प्रीपेड सिम ऐसी SIM होती हैं जिनमें आपको भुगतान सेवा का लाभ उठाने से पहले करना होता है। मान लीजिए आपके पास एयरटेल/जिओ/VI की सिम है तो यदि आप कॉल या डाटा इस्तेमाल करने से पहले उसमें रिचार्ज कराते हैं तो इसे 'प्रीपेड सिम' कहा जाता है।
    यानी कि बिना पहले रिचार्ज करवाए आप ना ही कहीं कॉल कर सकते हैं और ना ही इंटरनेट या किसी अन्य सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।


    Prepaid Order: यदि आपने आर्डर प्लेस करते समय ही इसकी ऑनलाइन पेमेंट कर दी है तो यह प्रीपेड आर्डर होगा तथा डिलीवरी लेते समय आपको भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी। ऑनलाइन पेमेंट करने पर कई जगहों पर कैशबैक और डिस्काउंट ऑफर्स भी दिए जाते है।


    Postpaid क्या होता है? (Hindi Meaning)

    Postpaid का हिंदी मीनिंग है उपरान्त-भुगतान जहाँ Post का मतलब 'बाद में' (उपरान्त) और Paid का मतलब 'भुगतान' (अथार्त पहले सेवा का लाभ उठाना और बाद में उसके बदले भुगतान करना पोस्टपैड कहलाता है।)


    Postpaid Sim: आमतौर पर पोस्टपेड कनेक्शन को बिल वाला कनेक्शन भी कहा जाता है जिसमें आपको किसी सर्विस का लाभ उठाने के बाद उसका Bill दिया जाता है इस बिल का आपको समय पर भुगतान करना होता है।


    Postpaid Order: ऐसे आर्डर जिनके लिए Pay on Delivery विकल्प को चुना गया है पोस्टपैड आर्डर कहलाते है यहाँ सामान की डिलीवरी के समय भुगतान करना होता है।


    नोट: प्रीपेड और पोस्टपेड का यह फंडा सिम में ही नहीं बल्कि दूसरी सभी जगह जैसे पेटीएम पोस्टपेड और दूसरी सर्विस के साथ भी लागू होता है हालांकि उनके टर्म्स एंड कंडीशन अलग अलग हो सकती है लेकिन कांसेप्ट यही होता है।



    Prepaid और Postpaid Sim में क्या अंतर है?

    • Recharge:
      प्रीपेड में आपको पहले रिचार्ज कराना होता है लेकिन पोस्टपेड में आप सर्विस इस्तेमाल करने के बाद अपना बिल Pay करते हैं।

    • Plans: Personal Use के लिए Prepaid Plan Best रहता है, लेकिन अगर आप बिजनेस या ऑफिस के लिए प्लान Choose कर रहे हैं तो आपके लिए पोस्टपेड प्लान से बेहतर कोई और प्लान नहीं हो सकता।

    • Validity: दोस्तों 2019 से पहले प्रीपेड और पोस्टपेड की वैलिडिटी में जमीन आसमान का फर्क था लेकिन आज ऐसा कुछ नहीं है पहले आप प्रीपेड सिम को बिना रिचार्ज कराएं भी चला सकते थे. लेकिन आज पोस्टपेड की तरह प्रीपेड में भी आपको रिचार्ज कराना अनिवार्य होता है, अन्यथा कोई भी कॉल एसएमएस या इनकमिंग आउटगोइंग कॉल नहीं कर सकते।

    • Billing: दोस्तों अगर आपके पास प्रीपेड सिम है तो इसमें आपको कोई बिलिंग नहीं करनी होती केवल आपको रिचार्ज कराना होता है Monthly, Quaterly या Yearly लेकिन अगर आप पोस्टपेड सिम इस्तेमाल करते हैं तो इसके लिए आपको बिल पेमेंट करनी होती है।

    यह भी पढ़े: India में 5G Network कब तक लॉन्च होगा?


    Prepaid या Postpaid क्या Best है?

    अब प्रीपेड और पोस्टपैड में ज्यादा अंतर नही बचा है हालांकि आप अपनी सुविधा के अनुसार दोनों में तुलना करके किसी को भी चुन सकते हैं।

    जिओ के आ जाने से मामला पूरी तरह से बदल चुका है, जियो ने टेलीकॉम सेक्टर में क्रांति लाते हुए ऐसे कई प्लान पेश किए हैं जो आपको प्रीपेड और पोस्टपेड में से किसे चुनना चाहिए इस बात को लेकर कंफ्यूज भी कर सकते हैं।

    अगर आप पर्सनल इस्तेमाल के लिए सिम लेना चाहते हैं तो प्रीपेड कनेक्शन ही खरीदें, क्योकि यहाँ पर आपको महीने से लेकर दिन से लेकर साल तक के Plans मिल जाते हैं।


    प्रीपेड को पोस्टपेड में ट्रांसफर या Convert कैसे करें?

    • सबसे पहले आप कस्टमर केयर पर कॉल करें या उनकी वेबसाइट पर Visit करें।
    • अपने एड्रेस प्रूफ, ID Proof का फोटो कस्टमर सेंटर पर दें।
    • Verification होने के बाद आपको आपका Postpaid सिम दे दिया जाता है

    अन्तिम शब्द

    प्यारे दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे कि प्रीपेड और पोस्टपेड क्या है और प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या डिफरेंस होता है, तो दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें।


    अगर आप अपने लिए या अपने बिजनेस के लिए आप टोल फ्री नंबर की तलाश में है तो आप भारत में उपलब्ध इन बेस्ट टोल फ्री नंबर प्रोवाइडर से अपने बिजनेस के लिए 1800 वाला नंबर ले सकते हैं और अपने बिजनेस को और भी ज्यादा मजबूत बना सकते हैं।

    यह भी पढ़े: Best Toll Free Number Providers In India - पूरी जानकारी
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post