-->

बालिका दिवस 2021: Girl Child Day कब और क्यों मनाया जाता है? थीम और इतिहास

हर साल 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है इसकी शुरूआत वर्ष 2012 में UN ने की थी। 2021 की थीम Digital generation Our generation है। आइये इसके बारें में विस्तार से जानते है...

    GIRL CHILD DAY 2021: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानिए थीम और इतिहास

    गर्ल चाइल्ड डे 2021: विश्व में बढ़ते महिलाओं के प्रति अत्याचारों और असमानताओं जैसे भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, बाल विवाह एवं अशिक्षा को देखते हुए और उन्हें इन सभी समस्याओं से उबारने के लिए तथा उनके संरक्षण के उद्देश्य से ही हर साल बालिका दिवस (Girl Child Day) या कन्या दिवस मनाया जाता है।

    जब 24 जनवरी को इसे भारत में में मनाते है तो यह राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) कहलाता है तो वहीं 11 अक्टूबर को जब इसे विश्व स्तर पर मनाया जाता है तो यह अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of Girl Child) कहलाता है।

    International Day of Girl Child 11 October
    International Day of Girl Child 11 October

    यहाँ आपको अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय बालिका दिवस कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है इसके इतिहास (History) और Theme के बारे में जानकारी मिलेगी।


    International Girl Child Day 2021 Information in Hindi

    अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के बारे में जानकारी:
    नाम: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of Girl Child)
    शुरूआत: वर्ष 2012 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा
    तिथि: 11 अक्टूबर (वार्षिक)
    उद्देश्य: दुनिया भर में लड़कियों को लिंग के आधार पर लैंगिक असमानता के बारे में जागरूक करना।
    थीम: Digital generation. Our generation. (डिजिटल पीढ़ी, हमारी पीढ़ी।)
    अगली बार: 11 अक्टूबर 2022

    राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? इतिहास

    विश्व स्तर पर प्रत्येक वर्ष 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of Girl Child) मनाया जाता है, इस दिन यूनिसेफ लड़कियों के साथ काम करता है ताकि वे अपनी आवाज़ बुलंद कर सकें और अपने अधिकारों के लिए खड़ी हो सकें।

    बालिकाओं के लिए मनाया जाने वाला यह अंतर्राष्ट्रीय दिवस संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित एक अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षण दिवस है; इसे लड़कियों का दिन (Day Of Girls) या लड़की का अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of Girls) भी कहा जा सकता है।


    Happy Girlchild Day बालिका दिवस Photo
    Happy Girlchild Day Photo बालिका दिवस

    राष्ट्रीय बालिका दिवस: भारत में हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) मनाया जाता है इसकी शुरूआत भारत की महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा वर्ष 2008 में की गयी थी।

    24 जनवरी की तारीख को इसलिए चुना गया क्योंकि 1966 में इसी दिन इंदिरा गाँधी जी ने देश की पहली महिला प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी। इस दिन आयरन लेडी कही जाने वाली इंदिरा गांधी को नारी शक्ति के तौर पर याद किया जाता है।

    नेशनल गर्ल चाइल्ड डे का उद्देश्य समाज में लड़कियों की स्थिति को उबारना है, ताकि समाज के लोगों के बीच उनका जीवन बेहतर हो सके।


    गर्ल चाइल्ड डे मनाने का उद्देश्य

    • लड़कियों को समान रूप से अधिकार देना तथा लड़कों के बराबर समानता देना।
    • बालिकाओं को शिक्षित करना तथा कौशल विकास, प्रशिक्षण और शिक्षा में सभी प्रकार के भेदभाव को खत्म करना।
    • दहेज प्रथा, बाल विवाह एवं भ्रूण हत्या जैसी कुरीतियों को खत्म करना।
    • लड़कियों के लिए नकारात्मक सांस्कृतिक दृष्टिकोण को समाप्त करना।
    • लड़कियों की सभी क्षेत्र में रक्षा करना।
    • स्वास्थ्य और पोषण में लड़कियों के साथ भेदभाव को खत्म करना।
    • समाज में लड़कियों की स्थिति को उबारना।
    • बच्चियों के साथ बाल श्रम के आर्थिक शोषण को खत्म करना।
    • बालिकाओं के खिलाफ हिंसा को खत्म करना।
    • सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक जीवन में लड़कियों को जागरूकता करना और भागीदारी को बढ़ावा देना।

    Girl Child Day 2021: राष्ट्रीय बालिका दिवस
    Girl Child Day 2021: राष्ट्रीय बालिका दिवस


    अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस का इतिहास (History)

    अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संचालित होने वाली एक गैर-सरकारी संगठन, प्लान इंटरनेशनल के एक प्रोजेक्ट के रूप में हुई थी। और यह "क्योंकि मैं एक लड़की हूँ" (Because I Am a Girl) अभियान से विकसित हुआ, जो विश्व स्तर पर और विशेष रूप से विकासशील देशों में लड़कियों के पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाता है।

    कनाडा में इस Project के अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस पहल के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए समर्थकों के गठबंधन की तलाश के लिए कनाडा की संघीय सरकार से संपर्क किया। और आखिरकार प्लान इंटरनेशनल संयुक्त राष्ट्र में शामिल हो गया।

    संयुक्त राष्ट्र महासभा में कनाडा द्वारा लड़कियों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस को Formally एक Proposal के रूप में प्रस्तावित किया गया था।

    रोना एम्ब्रोस, कनाडा की महिलाओं की स्थिति के मंत्री ने प्रस्ताव को प्रायोजित किया; महिलाओं और लड़कियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 55 वें संयुक्त राष्ट्र आयोग में महिलाओं की स्थिति पर पहल के समर्थन में प्रस्तुतियाँ दीं।

    19 दिसंबर, 2011 को, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाने के लिए एक मतदान किया गया जिसके बाद इससे प्रस्ताव को पारित कर दिया गया।

    इसके बाद 11 अक्टूबर 2012 को आधिकारिक तौर पर पहला इंटरनेशनल गर्ल चाइल्ड डे मनाया गया, और वर्ष 2013 तक, दुनिया भर में, लड़कियों के इस दिन के लिए लगभग 2,043 कार्यक्रम हुए।


    International Day of Girl Child 2021 की Theme

    प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस को एक विषय के साथ मनाया जाता है, और यह थीम महिलाओं एवं बालिकाओं से जुड़ी होती है और उन्हें सशक्त बनाने का काम करती है।

    हर साल 11 October को मनाए जाने वाले International Day of Girl Child 2021 की Theme "Digital generation. Our generation." है, जिसे हिंदी में "डिजिटल पीढ़ी हमारी पीढ़ी" कहा जा सकता है।


    इंटरनेशनल गर्ल चाइल्ड डे की पिछले कुछ सालों की Themes:
    YearThemeEnglish
    2020मेरी आवाज, हमारा समान भविष्यMy voice, our equal future
    2019गर्लफॉर्स: अनस्क्रिप्टेड एंड अनस्टॉपेबलGirlForce: Unscripted and Unstoppable
    2018उसके साथ: एक कुशल लड़की बलWith Her: A Skilled Girl Force
    2017एमपॉवर गर्ल्स: बिफोर, क्रेश के दौरान और उसके बादEmPOWER Girls: Before, during and after crises
    2016लड़कियों की प्रगति = लक्ष्यों की प्रगति: लड़कियों के लिए क्या मायने रखता हैGirls' Progress = Goals' Progress: What Counts for Girls
    2015किशोरियों की शक्ति: 2030 के लिए विजनThe Power of Adolescent Girl: Vision for 2030
    2014किशोर लड़कियों को सशक्त बनाना: हिंसा के चक्र को समाप्त करनाEmpowering Adolescent Girls: Ending the Cycle of Violence,
    2013लड़कियों की शिक्षा के लिए नवाचारinnovating for girls' education
    2012बाल विवाह को समाप्त करनाending child marriage

    Girl Child Day कैसे मनाया जाता है?

    इस दिन कई कार्यक्रम और भाषणों का आयोजन भी किया जाता है जिसमें समाज में लड़कियों की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाई जाती है, विभिन्न राजनीतिक और सामुदायिक नेता समान शिक्षा और बुनियादी स्वतंत्रता के लिए लड़कियों के अधिकार के बारे में जनता को भाषण देते हैं।

    जिसमें बालिकाओं को बचाने के लिए जागरूकता अभियान, बाल लिंग अनुपात (Girl Sex Ratio) और बालिकाओं के लिए एक स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण तैयार करना शामिल है।



    अंतिम शब्द

    आज हमने National & International Day of Girl Child (इंटरनेशनल डे ऑफ़ गर्ल चाइल्ड) के बारे में जानने की कोशिश की जहां आपको राष्टीय और अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस क्यों मनाया जाता है? तथा इसके इतिहास और Theme के बारे में पता चला।

    अगर आपको बालिका सशक्तिकरण को लेकर दिवस सराहनीय लगता है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और इससे अपने सगे संबंधियों और दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें।

    follow haxitrick on google news
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post