-->

World Mental Health Day 2021: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का इतिहास और थीम

दुनियाभर में मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता बढानें के उद्देश्य से हर साल 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (World Mental Health Day) आइये इसके बारें में विस्तार से जानते है...

    World Mental Health Day 2021: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कब, क्यों और कैसें मनाया जाता है? इतिहास और Theme

    World Mental Health Day 2021: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस अभी तक का सबसे महत्वपूर्ण अवसर होने वाला है आप सभी जानते ही हैं कि पिछले दो साल सभी के लिए काफी कठिन साल रहे है लॉकडाउन और नुकसान से लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ा है।

    मानसिक स्वास्थ्य सबसे ज्यादा नकारा जाने वाला स्वास्थ्य क्षेत्र रहा है जिस पर कोई ध्यान नहीं देता आज करीब 1 मिलियन से अधिक लोग मानसिक विकार के साथ जी रहे हैं।

    और प्रत्येक 40 सेकंड में एक व्यक्ति आत्महत्या करके खुद की जान का दुश्मन बनता जा रहा है और इस साल दुनिया भर में लोग कोविड-19 महामारी से भी प्रभावित है जिसका लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ रहा है।

    World Mental Health Day 2021 in Hindi
    World Mental Health Day 2021 in Hindi

    आइए अब वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे World Mental Health Day यानी विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कब, क्यों और कैसें मनाया जाता है? इसकी Theme और इतिहास (History) के बारे में जानने की कोशिश करते है।


    International Mental Health Day Information in Hindi

    अंतर्राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य दिवस के बारे में जानकारी:
    नाम: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (World Mental Health Day)
    शुरूआत: वर्ष 1992
    तिथि: 10 अक्टूबर (वार्षिक)
    उद्देश्य: मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों पर जागरूकता बढ़ाना एवं मानसिक स्वास्थ्य पर समर्थन में प्रयास करना।
    थीम: Mental Health in an Unequal World
    अगली बार: 10 अक्टूबर 2022

    Mental Health Day 2021: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

    दुनियाभर में मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता बढानें के उद्देश्य से हर साल 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (World Mental Health Day) मनाया जाता है। इस बार विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 10 अक्टूबर 2021 को रविवार के दिन है।

    विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाए जाने का Main Purpose मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित रोगों के बारे में लोगों को Aware करना है। और उन्हें मानसिक रोगों से छुटकारा दिलाना है।

    साथ ही 1992 में तत्कालीन डिप्टी सेक्रेटरी जनरल रिचर्ड हंटर के नेतृत्व में वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ मेंटल हेल्थ (WFMH) द्वारा विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस बनाया गया था।


    विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का इतिहास:

    अन्तर्राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य दिवस की शुरुआत सन् 1992 में पहली बार उप महासचिव रिचर्ड हंटर की पहल पर की गयी थी जिसके बाद 10 अक्टूबर 1992 को पहली बार वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे मनाया गया था।

    इसकी शुरुआत के बाद से मानसिक स्वास्थ्य वकालत को बढ़ावा देने और जनता को शिक्षित करने के अलावा 1994 तक इस दिन का कोई विशिष्ट विषय तय नहीं था।

    1994 में तत्कालीन महासचिव यूजीन ब्रॉडी के सुझाव पर पहली बार विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस एक थीम के साथ मनाया गया। उस समय इसका विषय "दुनिया भर में मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार" था।

    WHO: World Health Organization (विश्व स्वास्थ्य संगठन) और World Federation of Mental Health (विश्व मानसिक स्वास्थ्य महासंघ) द्वारा तेजी से बढ़ती मानसिक बीमारियों को देखते हुए लोगों को मानसिक रोगों के प्रति जागरूकता फैलाने और अपने अंदर के Personality Disorders and Mental Distortions को पहचानने के उद्देश्य से हर साल इसे 10 अक्टूबर को पूरे विश्वभर में मनाया जाता है।


    यह भी पढ़े: विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस

    कैसे मनाया जाता है वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे 2021

    वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे पर पूरी दुनिया के सरकारी और सामाजिक संगठनों द्वारा Stress liberation (तनाव मुक्ति) के Subject पर Program आयाजित किए जाते हैं।

    विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस डब्ल्यूएचओ द्वारा विश्व भर में स्वास्थ्य और नागरिक समाज संगठनों के मंत्रालयों के साथ अपने मजबूत संबंधों की मदद से मेंटल हेल्थ के Issues पर जागरूकता बढ़ाने के माध्यम से समर्थित है।

    इस साल 10 अक्टूबर को WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) पहली बार मानसिक स्वास्थ्य को लेकर एक वैश्विक ऑनलाइन कार्यक्रम की मेजबानी करने जा रहा है। यह कार्यक्रम हानिकारक शराब एवं ड्रग्स के इस्तेमाल तथा मानसिक बीमारी को कम करने के लिए सहयोग देने वाले कर्मचारियों के कामों का प्रदर्शन करेगा।

    साथ ही इस साल डब्ल्यूएचओ ने Health For All फिल्म फेस्टिवल के लिए मानसिक स्वास्थ्य की खास फिल्मों की प्रतियोगिता भी कराई जा रही है, इसमें 60 फिल्मों में से 4 को सर्वजनिक वोट के लिए चुना गया था हालांकि अब इसके लिए वोटिंग बंद हो चुकी है। लेकिन इस फिल्म फेस्टिवल में विजेता की घोषणा विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के दिन एक बड़े इवेंट के दौरान की जाएगी।


    यह भी पढ़े: अच्छी नींद से कम हो सकता है मानसिक तनाव यहां जानिए अच्छी नींद के उपाय

    Quotes on Mental Stress Delay and Time
    Quotes on Mental Stress Delay and Time

    World Mental Health Day 2021 की Theme

    WFMH के अध्यक्ष डॉ इंग्रिड डेनियल ने विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 2021 के लिए थीम की घोषणा की है जो ‘Mental Health in an Unequal World’ (एक असमान दुनिया में मानसिक स्वास्थ्य) है। World Mental Health Day हर साल एक खास थीम पर आधारित होता है पिछली साल 2020 की Theme 'Mental Health for All: Greater Investment – Greater Access' थी।

    इस Theme के जरिए दुनिया भर को यह बताने की कोशिश की जा रही है कि सभी देश मानसिक स्वास्थ्य में काफी कम इन्वेस्टमेंट (निवेश) करते हैं जिससे मानसिक रोगियों की संख्या में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है।

    डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट की मानें तो देश अपने स्वास्थ्य बजट का औसतन सिर्फ 2% ही मानसिक स्वास्थ्य पर खर्च करते हैं। ऐसे में मानसिक स्वास्थ्य के लिए उठाए गए इस कदम में इस निवेश को बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।


    1994 में पहली बार इसे एक थीम के साथ बनाया गया यह Theme थी: "Improving the Quality of Mental Health Services throughout the World."


    वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे की पिछले कुछ वर्षों की थीम:
    YearThemeEnglish
    2019मानसिक स्वास्थ्य संवर्धन और आत्महत्या की रोकथामMental Health Promotion and Suicide Prevention
    2018युवाओं और मानसिक स्वास्थ्य में बदलते वर्ल्ड मेंYoung people and mental health in a changing world
    2017कार्यस्थल में मानसिक स्वास्थ्यMental health in the workplace
    2016मनोवैज्ञानिक प्राथमिक चिकित्सा Psychological First Aid
    2015मानसिक स्वास्थ्य में गरिमाDignity in Mental Health
    2014स्किज़ोफ्रेनिया के साथ रहना Living with Schizophrenia
    2013मानसिक स्वास्थ्य और पुराने वयस्कMental health and older adults

    यह भी पढ़े: योग करने से होता है कई मानसिक लाभ यहां जानिए योगा के 10 फायदे

    मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले कारक:

    Mental Health Problems के लिए निम्नलिखित कारक उत्तरदायी हैं, जैसे:

    • Environmental stress: चिंता, अकेलापन, साथियों का दबाव, पारिवारिक तनाव, आत्मसम्मान में कमी, परिवार में मृत्यु या तलाक।

    • दुर्घटना, चोट, हिंसा एवं बलात्कार से मनोवैज्ञानिक आघात होना।

    • Genetic abnormalities (आनुवंशिक असामान्यताएं)।

    • Brain injury /defect (मस्तिष्क की चोट)।

    • Alcohol & drugs जैसे मादक पदार्थों का सेवन।

    • किसी संक्रमण के कारण मस्तिष्क को पहुँची हानि।

    यह भी पढ़े: World Health Day 2021: विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य दिवस पर जानिए क्या है थीम और डब्ल्यू.एच.ओ

    मानसिक स्वास्थ्य से जुडी प्रश्नोत्तरी (Mental Health Related FAQs)


    विश्व मानसिक स्वास्थ्य संघ की स्थापना कब हुई?

    World Federation of Mental Health (विश्व मानसिक स्वास्थ्य संघ) एक अंतरराष्ट्रीय सदस्यता संगठन है, जिसकी स्थापना 1948 में सभी लोगों और राष्ट्रों के बीच मानसिक एवं भावनात्मक विकारों की रोकथाम एवं इसी तरह के विकारों से पीड़ित लोगों के सही उपचार और देखभाल तथा मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के उद्देश्य से की गई थी।


    राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम

    भारतीय सरकार ने वर्ष 1982 में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम की शुरुआत की थी जिसका उद्देश्य प्राइमरी हेल्थ केयर में मेंटल हेल्थ को जोड़ना और इसे सामुदायिक स्वास्थ्य की और बढ़ाना है।

    इतना ही नहीं 6 साल पहले ही 10 अक्टूबर 2014 को भारत में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य नीति की घोषणा की गई तथा मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत बनाने के लिए मेंटल हेल्थ केयर एक्ट 2017 को लाया गया।


    मानसिक रोग क्या है कितने प्रकार का होता है?

    मनुष्य के मन-मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाने वाले विकारों को मानसिक रोग कहा जा सकता है, यह समस्या अल्जाइमर, अवसाद (डिप्रेशन), ऑटिज्म, डर लगना, डिस्लेक्सिया, तनाव, चिंता, भूलने की आदत आदि के रूप में हो सकती है।


    मानसिक रोग के लक्षण क्या हैं?

    मानसिक रोग से जूझने वाले व्यक्ति में कुछ खास लक्षण दिखाई देते हैं जैसे उदास रहना, थकान, नींद ना आना, डर लगना, भूलने की समस्या, कमजोरी, आत्मविश्वास में कमी तथा खुद की अहमियत को ना समझना आदि।


    अंतिम शब्द

    ज्यादतर मानसिक रोगों में से लगभग 50 फ़ीसदी मामले 14 वर्ष की आयु तक शुरू होते हैं। ऐसे में हमें इस विषय पर ख़ासा ध्यान देने की आवश्यकता है और जल्द ही इस पर ठीक प्रकार से कम नहीं किया गया तो आने वाले समय में स्थिति और खराब हो सकती है।

    अब तो आप समझ ही गए होंगे कि विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कब, क्यों और कैसें मनाया जाता है?

    World Mental Health Day 2021 की यह जानकारी अच्छी लगी तो शेयर जरूर करें। अपना और अपनों का ख्याल रखें तथा किसी भी ऐसी स्थिति में मानसिकरोग विशेषज्ञ से सलाह लें।

    follow haxitrick on google news
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post