बाल दिवस 14 नवम्बर 2019: कब, क्यों और कैसे मनाते है चिल्ड्रंस डे, जाने चाचा नेहरू के बारे में

    बाल दिवस 2019: कब, क्यों और कैसे मनाते है चिल्ड्रंस डे, जाने चाचा नेहरू के बारे में

    Children's Day 14 November 2019: हमारे देश भारत और दुनिया भर में हर दिवस मनाने के पीछे एक ही मकसद होता है, मनुष्यों का कल्याण या फिर उस दिन के महत्व को लोगों और दुनिया भर में फैलाना और जागरूक करना. आज के इस लेख में हम आपको बाल दिवस (Bal Diwas 2019) के बारे में बताने जा रहे हैं, जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि यह बच्चों का दिन है बाल दिवस को इंग्लिश में चिल्ड्रंस डे (Children's Day) भी कहा जाता है। वहीं बंगाली में इसे शिशु दिवस भी बोलते है.

    अगर आप सोच रहे हैं कि यह बाल दिवस कब मनाया जाता है (Date) तो हम आपको बता दें कि भारत में बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है।
    Bal Diwas Kab Kyu Kaise Manaya Jata Hai 14 November Childrens Day Information Hindi
    Bal Diwas Kab Kyu Kaise Manaya Jata Hai 14 November Childrens Day Information Hindi

    आज के इस लेख में आपको बाल दिवस से जुड़ी सभी जानकारियां मिल जाएंगी यानी के बाल दिवस कब मनाया जाता है, (Bal Diwas Kab Manaya Jata Hai) बाल दिवस क्यों मनाया जाता है (Bal Diwas Kyu Manate Hai) और बाल दिवस कैसे मनाया जाता है (Bal Divas Kaise Manaya Jata Hai), जवाहरलाल नेहरू कौन थे, बाल दिवस की पूरी जानकारी हिंदी में।

    तो चलिए लेख शुरू करते हुए सबसे पहले आपको बताते हैं, When Childrens Day Is Celebrated Date, Why Children's Day Is Celebrated, and How Children's Day Is Celebrated In India, Information About Jawaharlal Nehru In Hindi.

    बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है | When and Why Childrens Day Is Celebrated

    हर साल भारत में बाल दिवस (Bal Diwas) भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन 14 नवंबर को मनाया जाता है, वही हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में बाल दिवस 1 जुलाई को, नेपाल में 14 सितंबर या 15 सितंबर को बांग्लादेश में 27 मार्च को और श्रीलंका में 1 अक्टूबर को मनाया जाता है, इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस (International Children's Day) 20 नवंबर को मनाया जाता है। भारत में भी बाल दिवस पंडित जवाहरलाल नेहरु की मृत्यु से पहले 20 नवंबर को ही मनाया जाता था।

    अगर बात करें कि बाल दिवस को 14 नवंबर को पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के दिन ही क्यों मनाया जाता है, तो इसका सबसे बड़ा कारण यही है कि पंडित जवाहरलाल नेहरु बच्चों से बहुत प्रेम करते थे, उन्हें हर बच्चा प्यारा था. साथ ही वह अपना ज्यादा से ज्यादा समय बच्चों के साथ ही बिताना पसंद करते थे, जिसके कारण सभी बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे, इसीलिए चाचा नेहरू के जन्मदिन को ही बाल दिवस के रूप में चुना गया यह दिन बच्चों के लिए बहुत खास होता है।

    बाल दिवस कैसे मनाया जाता है | How Children's Day Is Celebrated In India:

    बाल दिवस के दिन स्कूलों में बच्चों से बाल दिवस और चाचा नेहरू पर कविताएं निबंध एवं भाषण आदि लिखने के लिए कहा जाता है बच्चों को चाचा नेहरू और चाचा नेहरू को बच्चे बहुत पसंद थे इसीलिए कई स्कूलों में इस दिन रंगारंग कार्यक्रम भी किए जाते हैं।

    बच्चे चाचा नेहरू को बहुत पसंद करते हैं इसीलिए कई बच्चे चाचा नेहरू की वेशभूषा धारण कर भी स्कूल पहुंचते हैं, और जवाहरलाल नेहरु जी की भूमिका निभाते हैं।

    👉इंदिरा गाँधी 2019: जानें कब है, आयरन लेडी की डेथ एनीवर्सरी, जाने उनके जीवन से जुडी जानकारी

    👉राष्ट्रीय एकता दिवस 2019: कब, क्यों और कैसें मनाते है, जाने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी और लौह पुरुष की खास बातें

    👉गुरुनानक जयंती 2019 बर्थडे: जानें कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है प्रकाश उत्सव, पूरी जानकारी

    👉इंटरनेशनल डे ऑफ़ गर्ल चाइल्ड 2019: कब, क्यों और कैसें मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानिए थीम और इतिहास

    👉शहीद भगत सिंह जी की जयंती, जन्मदिन पर जीवनी 2019

    बच्चों के प्रिय जवाहरलाल नेहरू कौन थे:

    जवाहरलाल नेहरू (14 नवंबर 1889 से 27 मई 1964) का जन्म ब्रिटिश भारत के इलाहाबाद में हुआ था उनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरु था. जो कि एक बैरिस्टर और कश्मीरी पंडित समुदाय से थे, तथा उनकी माता का नाम स्वरूपरानी नेहरू था. पंडित नेहरू अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे, और उनकी तीन बहने थी. कमला नेहरू से विवाह के बाद पंडित नेहरू की इकलौती बेटी इंदिरा थी, जो देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी. कश्मीरी पंडित समुदाय से होने के कारण उन्हें पंडित नेहरू भी कहा जाता था। और बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कहकर बुलाते थे।

    वे स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री थे, उन्होंने देश की स्वतंत्रता से लेकर अपनी मृत्यु तक देश का शासन चलाया, भारत को आजादी दिलाने में उनका बहुत कम योगदान रहा, लेकिन वे एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्होंने देश की आजादी में महात्मा गांधी का साथ दिया तथा महात्मा गांधी भी उन्हें अपना एक शिक्षा मानते थे।

    पंडित जवाहरलाल नेहरू को गुलाब का फूल बेहद पसंद था वह हमेशा अपनी शेरवानी पर गुलाब का फूल लगाकर रखते थे। पंडित जवाहरलाल नेहरु जी का निधन 27 मई 1964 को दिल का दौरा पड़ने से हुआ।

    पंडित जवाहरलाल नेहरू को 1955 में देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से भी नवाजा जा चुका है।

    अन्तिम शब्द | Bal Diwas 14 November 2019

    दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे कि 14 नवंबर को जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के दिन बाल दिवस क्यों मनाया जाता है, अगर आपको यह लेख तथा बाल दिवस एवं चाचा नेहरू के बारे में यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दूसरे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें
    और बाल दिवस कब मनाया जाता है, (Bal Diwas Kab Manaya Jata Hai) बाल दिवस क्यों मनाया जाता है (Bal Diwas Kyu Manate Hai) और बाल दिवस कैसे मनाया जाता है (Bal Divas Kaise Manaya Jata Hai), जवाहरलाल नेहरू कौन थे, पर अपने विचार हमें कमेंट करके बताएं।
    ---------यह भी पढ़े:----------

    बाल दिवस 14 नवम्बर 2019: कब, क्यों और कैसे मनाते है चिल्ड्रंस डे, जाने चाचा नेहरू के बारे में, Bal Diwas Date, When, Why How Children's Day Is Celebrated In India Hindi

    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post
    -->
    NEXT ARTICLE Next Post
    PREVIOUS ARTICLE Previous Post